बिहार: बाढ़ से बदहाल 72 लाख लोग, हाईवे के किनारे काट रहे रात

0
24

बिहार में लगातार हो रही भारी बारिश से बाढ़ का स्तर बढ़ता जा रहा है. बाढ़ की वजह से लोग अपना घर छोड़कर सड़क के किनारे रहने पर मजबूर हो गए हैं. दरभंगा में काकीरघाटी गांव में लोगों ने बाढ़ की वजह से हाईवे के किनारे अस्थायी आश्रय स्थल बनाए हैं. पुलिस के मुताबिक, स्थानीय लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित कर दी गई है और साथ में हाईवे को भी चालू रखा गया है.

बुधवार को आपदा प्रबंधन विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक बिहार के 12 जिलों में करीब 78 लोगों की मौत हो गई है और करीब 72 लाख लोग इससे प्रभावित हुए हैं. बिहार के बाढ़ प्रभावित इन 12 जिलों में कुल 133 राहत शिविर चलाए जा रहे हैं, जिसमें करीब 11 लाख से ज्यादा लोग शरण लिए हुए हैं. उनके भोजन की व्यवस्था के लिए 776 सामुदायिक रसोई चलाए जा रहे हैं.

वहीं हरियाणा और पंजाब के ज्यादातर इलाकों में शनिवार को हुई भारी बारिश से तापमान सामान्य से तीन डिग्री तक नीचे गिर गया है. करनाल में 58.2 मिलीमीटर और अमृतसर में 13 मिलीमीटर बारिश हुई। चंडीगढ़ में 2 मिलीमीटर बारिश आंकी गई. पंजाब की घग्गर नदी में उफान के कारण सात जिलों में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं और कपास व धान की फसल को खतरा पैदा हो गया है.

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक, बाढ़ का पानी राज्य में उतरने लगा है. वहीं बाढ़ से प्रभावित जिलों की संख्या घटकर अब 24 हो गई है. लेकिन शनिवार को भी बाढ़ की वजह से करीब 12 लोगों की मौत हो गई है. असम में बाढ़ के कारण अब कुल 59 लोगों की मौत हो चुकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here