मध्य प्रदेश के उज्जैन महाकाल मंदिर परिसर समिति ने एक बड़ा एक्शन लिया है। लगातार मंदिर को लेकर सोशल मीडिया के माध्यम से छवि खराब की जारी रही है। वही मंदिर की गरिमा और नुकसान पहुंचाने वालों पर मुकदमा चलाया जाएंगा। इतना ही नही उनके ऊपर 1 करोड़ रूपए का मानहानि भी लगाया जाएंगा।

बता दें कि पिछले कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्री महाकाल लोक का उद्घाटन किया था। उसके बाद से यह श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गाय था। इसे देखने के लिए कई राज्यों से आ रहे है और आए दिन विवाद भी हो रहे है। वही कुछ अपवादों के द्वारा भस्म आरती के नाम पर कालाबाजारी भी की जारी रही है। अब इन मामलोंं को लेकर मंदिर परिसर समिति हरकत में आकर सख्त कदम उठाने जा रही है।

मंदिर परिसर समिति के सदस्य संदीप सोनी ने कहा कि, ऐसे लोगों के खिलाफ एफआईआर तो कई बार दर्ज की गई है। जल्द ही, मंदिर समिति ऐसे लोगों के खिलाफ एक करोड़ का मानहानि का मुकदमा दर्ज करेगी, जो मंदिर के छवि खराब कर रहे हैं।

क्यों बन रही है यहा स्थिति?

महाकाल मंदिर में दर्शन और महाकाल लोक देखने के लिए दुनिया भर से भक्तों का तांता लगा है। लाखों श्रद्धालु महाकालेश्वर मंदिर पहुंच रहे हैं। नव वर्ष पर भी बड़ी संख्या में भक्तों के आने की उम्मीद है। आने वाले भक्त महाकाल मंदिर में दर्शन आसानी से कर ले और उन्हें असुविधा नहीं हो मंदिर समिति का यही लक्ष्य है। कई लोग मंदिर की व्यवस्थाओं के नाम पर भक्तों के साथ ठगी कर रहे हैं या मंदिर की छवि को नुकसान पहुंचा रहे हैं। आपको बताते हैं बीते दो महीनों में महाकाल मंदिर विवाद से जुड़ी कुछ घटनाएं।

Also Read : IMD Alert : अगले 72 घंटे में इन जिलों में होगी भारी बारिश, शिक्षण संस्थान बंद करने का आदेश, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

घटना कब-कब हुई मंदिर परिसर में

महाकालेश्वर मंदिर में 21 मार्च को एक अजान व्यक्ति ने खुद को पुरोहित बताकर भक्तों से भस्म आरती के नाम पर ठगी की थी। यह मामला तप सामने आया था, जब श्रद्धालु मंदिर में प्रवेश के लिए जा रहे थे। उसने लोगों से 3100 रूपए की वसुली की थी। वही 17 अक्टूबर एक युवती ने मंदिर के गर्भगृह में डांस की रिल्स बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया था। इस डांस की बहुत अलोचना हुई थी। इस मामलें के बाद अगले महिने 4 नवंबर को मंदिर परिसर की सुरक्षाकर्मी महिला ने मंदिर के अंदर डांस का वीडियो बनाकर वायरल कर दिया था। इसके बाद महिला को नौकरी से निकाल दिया था।

जलाभिषेक के लिए मांगे 1500 रूपए

30 अगस्त को जयपुर के कलेक्टर कार्यालय में कार्यरत अनमोल शर्मा ने आरोप लगाया था कि कर्कराज मंदिर के पास रहने वाले कृष्ण गिरि महाराज ने उन्हें भगवान महाकाल की भस्म आरती के दर्शन तथा जलाभिषेक के लिए उज्जैन बुलाया था। 7 अगस्त को उज्जैन पहुंचने पर महाराज ने आश्रम में ठहरने के लिए दो हजार रुपए भगवान के जलाभिषेक के लिए प्रति व्यक्ति 1500 रुपए तथा भस्म आरती के लिए प्रति व्यक्ति 1300 रुपए की मांग की।

भक्तों के साथ फर्जीवाड़ा

21 अक्टूबर को उड़ीसा के भक्तों के साथ फर्जी वेबसाइट बनाकर कमरा बुक करने के नाम पर ठगी की गई थी। उड़ीसा के एक भक्त के साथ कमरे बुकिंग करने के नाम पर ऑनलाइन 9 हजार की ठगी हुई है। भक्त जब उज्जैन पहुंचे, तो उन्हें वास्तविकता पता चली। भक्तों के साथ ठगी करने के लिए आरोपी ने फर्जी वेबसाइट बनाकर फर्जी