गुजरात के भावनगर में भारती बेन शियाल का दबदबा रहा बरकरार

0
24
bhartiben

गुजरात की भावनगर लोकसभा सीट पर भाजपा ने दोबारा भारतीबेन शियाल पर भरोसा जताया था और वह उस पर खरी भी उतरी है। भारतीबेन ने भावनगर से कांग्रेस पार्टी को दोबारा मात दे दी है। भारतीबेन ने 3 लाख 29 हजार 519 वोटों के अंतर से मनहर पटेल को परास्त किया है।

भारतीबेन पढ़ने की काफी शौकिन है और वे अक्सर खाली समय में किताबें पढ़ना पसंद करती हैं। सामाजिक कार्य में भी उनकी विशेष रूचि रही है। भारतीबेन जब भी बोर होती है तो वे टाइम पास के लिए संध्या संगीत सुनना ही पसंद करती है।

1985 से राजनीति में अपना कमाल दिखा रही भारतीबेन ने शुरूआत से ही बीजेपी का दामन थाम रखा है। वे समाजकल्याण के लिए हमेशा से तत्पर रही है। वे भाजपा से भावनगर में जिला अध्यक्ष के पद पर भी रह चुकी है। उन्होंने 2006 तक जिला पंचायत भावनगर के अध्यक्ष पद को सफलतापूर्वक लेकिन बहुत मुश्किल राजनीतिक संकटों के तहत अपना कार्यभार संभाला।

2012 में उन्होंने गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान तलाजा निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ा और कांग्रेस पार्टी के सर्ववाई संजयसिंह अजीतसिंह को हराया। 2014 में वह कोयला मंत्रालय के तहत परामर्श समिति की सदस्या और सूचना प्रौद्योगिकी पर स्थायी समिति की सदस्या चुनी गई। 2014 में वह भावनगर निर्वाचन क्षेत्र से 16 वें लोकसभा के लिए चुनी गई। उन्होंने कांग्रेस के राठौड़ प्रवीणभाई जिनाभाई को हराया। इसके बाद उन्होंने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया। 2017 में केंद्रीय पर्यवेक्षी बोर्ड की सदस्या के रूप में उन्हें नियुक्त किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here