Breaking News

कब्जे से तंग आ कर भक्त ने खजराना गणेश जी को किया प्लाट दान

Posted on: 28 Mar 2019 09:06 by Mohit Devkar
कब्जे से तंग आ कर भक्त ने खजराना गणेश जी को किया प्लाट दान

गणेश भक्त शम्भूराम यादव बोले मंदिर समिति प्लाट बेचे या मंदिर बनाए मैंने तो कर दिया है दान

इंदौर। बुधवार को खजराना गणेश मंदिर के पुजारी और मंदिर समिति के सदस्य उस समय हैरान रह गए जब उन्हें दानपेटी से प्लाट की रजिस्ट्री के दस्तावेज मिले, जब उन्होंने इसे पढा तो प्लाट गौरी नगर निवासी शंभुराम यादव का था। जिन्होंने अपने प्लाट पर किसी महिला का कब्जा होने से तंग आकर प्लाट खजराना गणेश जी को दान कर दिया। अब यादव ने मंदिर प्रशासन से कहा है की वह चाहें तो प्लांट पर मंदिर गौशाला बनाए या फिर उसे बेचकर मिलने वाली राशि को मंदिर के विकास कार्यो में खर्च करें।

खजराना गणेश मंदिर में हर तीन माह में दान पेटियां खोली जाती है, इस दौरान पेटियों से भक्तों व्दारा दान की गई विदेशी मुद्रा, आभूषण, मन्नत पत्र निकलते थे, लेकिन कल बुधवार को दान पेटियों की राशि की गिनती के दौरान 800 वर्गफीट के प्लांट की रजिस्ट्री निकली । जिसको देख सभी आश्चर्य में थे। दस्तावेज के एक हिस्से में प्लाट के मालिक शंभुराम यादव का मोबाइल नंबर लिखा हुआ  था जब इस बारे में मंदिर प्रबन्ध समिति द्वारा उनसे बात की गई तो उन्होंने बताया की बड़ा बांगड़दा लेक व्यू कालोनी के पास प्रगति नगर में यह प्लाट उन्होंने 2010 में खरीदा था, भूखंड पूरी तरह वैध है, तब 1 लाख 40 हजार रु इस प्लाट कीमत थी । जो बैंक से लोन कर खरीदा था। लेकिन कॉलोनो के दो अन्य प्लांट सहित उनके प्लाट पर एक महिला ने कब्जा किया हुआ है। इस कब्जे को हटवा नहीं पाने के चलते शंभुराम ने इसे खजराना गणेश जी को प्लाट दान करने का विचार किया।

यादव ने बताया उस समय शासन प्रशासन अधिकारियों सहित सभी के पास प्लाट मुक्त करवाने की गुहार लगाई। अंत में वकील ने भी केस लगाने की सलाह दी थी। लेकिन आर्थिक तंगी के कारण प्रकरण दायर नहीं कर सकते थे।, इसलिए उन्होंने इस प्लाट को खजराना गणेश जी को दान करना उचित समझा । यादव ने मंदिर के पूर्व प्रशासक मनीष सिंह को भी इसके लिए फोन लगाया था लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। इसके बाद उन्होंने जनवरी में मंदिर की दान पेटी में प्लाट की रजिस्ट्री के दस्तावेज की फोटो कॉपी डाल दी, और सोचा की अब मुझे प्लाट दान करने का रास्ता मिल जाएगा.

यादव ने कहा कि मैं टाईल्स लगाने का काम करता हूं। मंदिर समिति कब्जा हटवाकर यहां मंदिर बनाए चाहे प्लाट बेचकर राशि खजराना गणेश मंदिर के खाते में जमा करले मुझे कोई आपत्ती नहीं है। जो भी वैधानिक कार्रवाई करनी मैं उसके लिए तैयार हूं।

मंदिर के पुजारी सतपाल महाराज ने बताया कि दान राशि गणना दौरान रजिस्ट्री के कागज निकले है प्रगति नगर में प्लाट है मामले में मंदिर समित निर्णय लेगी। यह पहला मौका जब किसी भक्त ने इस तरह से गणेश जी को भूखंड दान किया है। इसके पूर्व एक भक्त ने अपनी 12 बीघा जमीन गणेश जी को दान की थी।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com