रोटी के ये अचुक उपाय जरुर करें, मालामाल होने से कोई नहीं बचा पाएगा | Best Astro Remedies Of Roti

0
22
rroti

रोटी हर इंसान की भुख का तौड़ होती है। रोटी सिर्फ हमारा पैट ही नहीं भरती बल्कि वह हमारी तिजौरी भरने की क्षमता रखती है। आपको यह बात जानकर आश्चर्य जरुर होगा लेकिन यह सच है। आज हम आपको अपनी पोस्ट में रोटी के टोटकों के बारे में बता रहे है। जो आपके घर से पैसों की कमी को दूर कर घर में बरकत ले आएंगे।

रोटी का पहला और सबसे कारगर टोटका है- घर में पहली रोटी सेंकने के बाद उसमें शुद्ध घी लगाकर चार टुकड़े कर लें और चारों टुकड़ों पर खीर अथवा चीनी या गुड़ रख लें। इसमें से एक को गाय को, दूसरे को कुत्ते को, तीसरे को कौवे को और चैथे को किसी भिखारी को दें। इस उपाय से गाय को रोटी खिलाने से पितृदोष दूर होगा, कुत्ते को रोटी खिलाने से शत्रुभय दूर होगा, कौवे को रोटी खिलाने से पितृदोष और कालसर्प दोष दूर होगा और अंतिम रोटी का टुकड़ा किसी गरीब या भूखे को भोजन के साथ खिलाने से आर्थिक कष्ट दूर होंगे और बिगड़े काम बनने लगेंगे।

अपने जीवन से शनि पीड़ा या फिर राहु-केतु की अड़चनों को दूर करने के लिए रोटी का यह उपाय आपके लिए रामबाण साबित हो सकता है। इन सभी ग्रहों की अशुभता को दूर करने के लिए रात के समय बनाई हुई रोटी में से आखिरी रोटी पर सरसों का तेल लगाकर काले कुत्ते को खाने के लिए दें। यदि काला कुत्ता न हो तो किसी भी कुत्ते के बच्चे को खिलाकर इस उपाय को कर सकते हैं।

करियर या नौकरी में आने वाली रुकावटों को दूर करने के लिए यह उपाय सबसे बेस्ट है। जिस भी बर्तन में रोटी को रखते है उसमें से नीचे से तीसरे नंबर की रोटी लें, तेल की कटोरी में अपनी बीच वाली अंगुली और तर्जनी यानी पास वाली बड़ी अंगुली को एक साथ डुबोएं अब उस रोटी पर दोनों अंगुलियों से एक साथ लाइन खींचें। अब इस रोटी को बिना कुछ बोले दो रंग के कुत्ते को डाल दें। यह उपाय गुरुवार या रविवार को करेंगे तो करियर की हर बाधा दूर होगी।

घर में अशांति ने कब्जा कर लिया है और आए दिन झगड़े होते है तो आपको एक बार यह उपाय एक जरुर आजमाकर देखना चाहिए। इससे जरुर आपको लाभ मिलेगा। इसके लिए आपको दोपहर के समय अपनी रसोई में पहली रोटी सेंक कर उसे गाय के लिए और अंतिम रोटी कुत्ते के लिए जरूर निकाल लें। और उसे भोजन से पूर्व गाय और कुत्ते को खिलाने का प्रयास करें। यदि यह न संभव हो तो बाद में उसे खिला दें।

हमारे यहां अतिथि को देवता के समान माना गया है फिर वह धनवान हो या फिर आम आदमी। यदि कोई निर्धन या भिखारी आपके घर के दरवाजे पर आए तो यथासंभव भोजन अवश्य कराएं। भोजन में भी रोटी जरूर खिलाएं या हाथ से परोसें। इस उपाय को यदि आप अपनी आदत में बना लेंगे तो आप जल्द ही अपने ईष्ट को प्रसन्न कर अपने घर में सुख-सृमद्धि को न्योता दे देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here