ग्लव्स विवाद: धोनी को मिला BCCI का साथ, पाकिस्तान को लगी मिर्ची | BCCI Supports MS Dhoni Balidan ‘Sacrifice’ Badge Gloves Controversy…

0
54
dhoni

नई दिल्ली: इंग्लैंड में चल रहा क्रिकेट का महाकुंभ में भारतीय टीम ने 5 जून को साउथेम्प्टन में दक्षिण अफ्रीका को हराकर विश्व कप में विजय आगाज किया था। भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका को 6 विकेट से मात दी है और जीत के साथ वर्ल्ड कप की शुरुआत की। इस मैच में युजवेंद्र चहल की धारदार गेंदबाजी के अलावा रोहित शर्मा की जोरदार शतकीय पारी ने सुर्खियां बटोरीं।

इसी मैच में भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के ग्लव्स पर एक ख़ास निशान देखने को मिला जो और कोई भी क्रिकेटर अपने ग्लव्स पर नही लगा सकता है। बता दे कि इस निशान का इस्तमाल सिर्फ भारतीय पैरा-कमांडर ही कर सकते है। इस निशान को “बलिदान बैज” के नाम से जाना जाता है।

क्रिकेट के खेल में भारतीय टीम के पूर्व कप्तान को 2011 में विश्व कप जीतने के बाद उन्हें प्रादेशिक सेना में मानद लेफ्टिनेंट कर्नल का पद दिया गया था। धोनी को ये पद इसलिए मिला था ताकि वे युवाओं को सशस्त्र बलों में शामिल होने के लिए प्रेरित कर सकते हैं। धोनी एक प्रशिक्षित पैराट्रूपर भी हैं और उन्होंने पैरा बेसिक कोर्स किया है और पैराट्रूपर विंग्स पहनते हैं।

बीसीसीआई ने धोनी का दिया साथ

पाकिस्तान के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी को धोनी का बलिदान बैज देखकर आपत्ति उठाई थी। उन्होंने ट्वीट करके कहा था की की भारतीय खिलाड़ी धोनी इंग्लैंड में विश्व कप खेलने गए है या फिर कोई जंग लड़ने और इसी ट्वीट में धोनी को इडियट भी कहा था। इसके बाद आईसीसी ने धोनी के इस बैज को उनके ग्लव्स पर न लगाने के लिए बीसीसीआई को बोला था। लेकिन बीसीसीआई ने आईसीसी के बात को नही माना और कहा की इसमें आपत्ति वाली बात क्या है।

पाकिस्तान को लगी मिर्ची

धोनी को बीसीसीआई का साथ मिला है, इस बात से पाकिस्तान को मिर्ची लग गई है। बता दे कि पाकिस्तान ने धोनी के ग्लव्स पर आर्मी का निशान लगाने से आपत्ति उठाई थी जिसके बाद आईसीसी ने भी पाकिस्तान का साथ देते हुए बीसीसीआई से सिफारिश की थी की वे ये बैज धोनी उनके ग्लव्स से हटा दे। लेकिन ऐसा नही हुआ बीसीसीआई ने अपने खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी का ही साथ दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here