अगले सप्ताह 4 दिन बंद रहेंगे बैंक, जल्द निपटा लें जरूरी काम

26 सितंबर और 27 सितंबर 2 दिवसीय राष्ट्रीय हड़ताल है। जिसमें सभी बैंकों के अधिकारी शामिल रहेंगे।

0
146
bank

मोदी सरकार ने 10 बैंकों को मर्ज कर 4 बैंक बनाने का निर्णय लिया हैं। सरकार के इस निर्णय का बैंक कर्मचारी संघठनों ने विरोध किया हैं। अब कर्मचारी संघठनों ने सड़क पर उतरने का निर्णय लिया है। इस कारण इसी माह में लगातार 4 दिन बैंकों में ताले लगे रहेंगे क्योंकि बैंक कर्मचारी हड़ताल में भाग लेंगे।

दरअसल, 4 बैंक अधिकारियों के ट्रेड यूनियन संगठनों ने बैंकिंग सेक्टर में विलय के खिलाफ 25 सितंबर की आधी रात से 27 सितंबर की मध्यरात्रि तक लगातार हड़ताल करने और नवंबर के दूसरे सप्ताह से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का प्रस्ताव दिया है।

बता दें कि 26 सितंबर और 27 सितंबर 2 दिवसीय राष्ट्रीय हड़ताल है। जिसमें सभी बैंकों के अधिकारी शामिल रहेंगे। इसके अलावा, 28 सितंबर को भी बैंक में काम नहीं होंगे, क्योंकि महीने के अंतिम शनिवार को बैंकों में छुट्टी रहती है और 29 सितंबर को बैंक में रविवार की छुट्टी रहेगी।

10 अगस्त 2019 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 10 सरकारी बैंकों के मेगा मर्ज की घोषणा की थी। जिसमे 10 बैंकों का विलय कर 4 बैंक बनाए गए हैं। पंजाब नेशनल बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड इन चारों बैंकों को एक कर इसे देश का तीसरा सबसे बड़ा बैंक बनाया गया है। इसका पूरा बिजनेस 17 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा होगा।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक को मिलकर देश का सबसे बड़ा 5वां बैंक बनाई गई हैं। जिसका बिजनेस 14 लाख करोड़ से ज्यादा का होगा।

इसके बाद इंडियन बैंक और इलाहाबाद बैंक का विलय कर देश का सातवां सबसे बड़ा बैंक बनाया गया हैं। जिसका बिजनेस 8 लाख करोड़ से ज्यादा होगा।

साथ ही केनार बैंक और सिंडिकेट बैंक का विलय कर इसको देश का सबसे बड़ा चौथा बैंक बनाया गया है। जिसका बिजनेस 15.20 लाख करोड़ से ज्यादा रुपये का होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here