बाला साहेब की कसम, भाजपा ने किया था 50-50 का वादा: संजय राउत

बीजेपी और शिवसेना के बीच बाला साहेब के कमरे में बातचीत हुई थी। इस दौरान शाह भी मौजूद थे। हम झूठ नहीं बोलेंगे, बाला साहेब की कसम खाते हैं। बाला साहेब का कमरा हमारे लिए मंदिर की तरह से है।'

0
93
Sanjay Raut

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू होने के बाद भी राज्य में सियासी उठा-पटक जारी है। कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना सरकार बनाने के लिए लगातार मंथन कर रही है। इसी बीच शिवसेना नेता संजय राउत के एक बयां से राजनीति फिर गरमा गई है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बयान पर संजय राउत ने पलटवार करते हुए बाला साहेब ठाकरे की कसम खा ली।

संजय राउत ने कसम खाकर कहा कि बीजेपी ने बाला साहेब ठाकरे के कमरे में ’50-50′ का वादा किया था लेकिन अब झूठ बोल रही है। बीजेपी और शिवसेना के बीच बाला साहेब के कमरे में बातचीत हुई थी। इस दौरान शाह भी मौजूद थे। हम झूठ नहीं बोलेंगे, बाला साहेब की कसम खाते हैं। बाला साहेब का कमरा हमारे लिए मंदिर की तरह से है।’

इसके अलावा संजय राउत ने गुरुवार को ट्वीट किया है कि हारना और डरना मना है। एक टेक्स्ट फोटो साझा करते हुए उन्होंने लिखा कि ‘हार हो जाती है जब मान लिया जाता है, जीत तब होती है जब ठान लिया जाता है’। इसी टेक्स्ट फोटो के साथ कैप्शन में संजय राउत ने लिखा ‘अब हारना और डरना मना है’।

राष्ट्रपति शासन लगने पर सबसे ज्यादा विरोध शिवसेना ही कर रही है। गुरुवार को अपने मुखपत्र सामना के जारी शिवसेना ने एक बार फिर भाजपा पर निशाना साधा है। सामना में लिखा कि राज्यपाल की तरफ से शिवसेना को सरकार बनाने के लिए पर्याप्त समय नहीं दिया गया है। बीजेपी को 48 घंटे मिले थे, लेकिन शिवसेना को समय नहीं दिया गया। महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन बिल्कुल भी मान्य नहीं होगा, इसे तुरंत वापस लेना चाहिए। कुछ लोग हैं जो महाराष्ट्र के साथ खेलना चाहते हैं, हम बताना चाहते हैं कि महाराष्ट्र के साथ मत खेलो खत्म हो जाओगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here