कभी कार्टूनिस्ट रहे बाल ठाकरे की महाराष्ट्र में बोलती थी तूती, 53 साल बाद सपना होगा पूरा

शिवसेना की नींव रखने वाले बाला साहब ठाकरे आज भी मुंबई के लोगों के दिलों पर राज करते है। बाल ठाकरे की महाराष्ट्र की राजनीति, बॉलीवुड और उद्योगिक क्षेत्र में तूती बोलती थी।

0
72
Bal Thakre

नई दिल्ली : शिवसेना की नींव रखने वाले बाला साहब ठाकरे आज भी मुंबई के लोगों के दिलों पर राज करते है। बाल ठाकरे की महाराष्ट्र की राजनीति, बॉलीवुड और उद्योगिक क्षेत्र में तूती बोलती थी। इतना ही नहीं हिंदुत्व के लिए आवाज बुलंद करने वाले एक महान नेता बाल ठाकरे ने आज ही के दिन दुनिया को अलविदा कह दिया था। आज बाला साहब ठाकरे की 7वीं पूण्य तिथि मनाई जा रही है, बाल ठाकरे ने महाराष्ट्र के एक छोटे से अख़बार में कार्टूनिस्ट के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की थी। बता दे बाल ठाकरे का जन्म 23 जनवरी 1926 को एक मराठी परिवार में जन्म लिया था। उनका असली नाम बाल केशव ठाकरे था। दरअसल, उनके बारे मेें किसी ने कल्पना भी नहीं की थी कि एक कार्टूनिस्ट कभी राजनीति का बेताज बादशाह बन जाएगा। बता दे कि बाला साहब ठाकरे ने ना तो कभी कोई चुनाव लड़ा और ना ही कोई राजनीतिक पद स्वीकार किया लेकिन फिर भी उनका राजनीति में अच्छा खासा दखल था। दरअसल, साल 1960 में बाल ठाकरे ने कार्टूनिस्‍ट की नौकरी छोड़ी और अपना राजनीतिक साप्‍ताहिक अखबार मार्मिक निकाला था। आज हम आपको बताते है कैसे हुआ था शिव सेना का गठन।

19 जून, साल 1966 में के दिन शिवसेना का गठन किया गया। ये गठन मुंबई के राजनीतिक और व्‍यावसायिक परिदृष्‍य पर महाराष्‍ट्र के लोगों के अधिकार के लिए किया गया था। आपको बता दे कि, शिवसेना का अर्थ ‘शिव की सेना’ है। शिव से अर्थ महान मराठा छत्रपति शिवाजी से है। दरअसल, वर्तमान में बाल ठाकरे के बेटे उद्धव ठाकरे पार्टी की कमान संभाल रहे हैं। उसके बाद उन्होंने मुखपत्र ‘सामना’ और हिंदी अखबार ‘दोपहर का सामना’ निकाला था। बाल ठाकरे का सपना था कि एक दिन महाराष्ट्र में शिवसेना का सीएम बनेगा। यह सपना उनके बेटे और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पूरा करने वाले हैं। दरअसल, भाजपा से गठबंधन तोड़ने के बाद शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने वाले हैं। इस नए गठबंधन के तहत शिवसेना का मुख्यमंत्री पांच साल तक रहेगा, जबकि कांग्रेस और एनसीपी के डिप्टी सीएम होंगे।

कौन थीं बाल ठाकरे की पत्नी – बाल ठाकरे की पत्‍नी का नाम मीना ठाकरे था, जिनका 1996 में निधन हो गया। उनके तीन बेटे स्‍वर्गीय बिंदुमाधव, जयदेव और उद्धव ठाकरे हैं। उनके बड़े बेटे बिंदुमाधव ठाकरे की एक सड़क दुर्घटना में 20 अप्रैल 1996 को मुंबई-पुणे एक्सप्रेस वे पर मौत हो गई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here