Breaking News

शादी के 14 माह बाद बहू की संदिग्ध मौत, वरिष्ठ पत्रकार ऋषिकेश राजोरिया की टिप्पणी

Posted on: 24 May 2018 05:03 by Ravindra Singh Rana
शादी के 14 माह बाद बहू की संदिग्ध मौत, वरिष्ठ पत्रकार ऋषिकेश राजोरिया की टिप्पणी

खाटूश्यामजी में एक महिला की मौत हो गई। वह एक पत्रकार की बहन थी। शादी के 14 महीने बाद ससुराल वाले घर से उसकी अर्थी निकली। उसके पति के मुताबिक उसका शव पंखे से उतारा गया। स्थानीय स्तर पर परिवार के लोग प्रभावशाली हैं, रसूखदार हैं। उनका कहना है कि बहू ने आत्महत्या की। शायद पुलिस उनकी बात को सही मान रही है। यह इस देश में अकेला मामला नहीं है। यह हिंदू समाज की सड़ांध है। जातिवादी आधार पर शादियां होती हैं।

कई परिवारों में शादी से पहले ही लेन-देन की बात शुरू हो जाती है। कई परिवार शादी के बाद अपनी औकात दिखाते हैं। जो लोग खुद को ऊंची जाति का रसूखदार बताते हैं, उनके परिवारों में इस तरह की बातें ज्यादा देखने में आती हैं। समाज में प्रतिष्ठा कायम रखनी होती है, इसलिए जातिवादी आधार पर मुश्किल से रिश्ते तय होते हैं। शादी करने के लिए काफी झूठ बोला जाता है। शादी के बाद लड़का एकाध महीने पत्नी के साथ रातें गुजार लेता है।

इसके बाद पैसे की चखचख शुरू हो जाती है। बहू कितना दहेज लेकर आई, इस पर माथापच्ची होती है। कुछ परिवार बहू पर यह दबाव डालने लगते हैं कि वह अपने मायके से पैसे लेकर आए। ऐसा नहीं करने पर उसके साथ मारपीट होती है। प्रताड़ना का सिलसिला शुरू हो जाता है। इससे परेशान कुछ बहुएं खुद आत्महत्या कर लेती हैं तो कुछ मार दी जाती है। पुलिस को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। ससुराल में किसी बहू की संदिग्ध मौत उनके लिए एक और एफआईआर से ज्यादा नहीं होती। खाटूश्यामजी का मामला भी ऐसा ही मामला है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

आरोप लिख लिए हैं। लेकिन किसी आरोपी के गिरफ्तार होने की संभावना नजर नहीं आती। सही है। बगैर सबूत पुलिस किसी को कैसे गिरफ्तार कर सकती है? देश की जेलों में बड़ी संख्या में विचाराधीन कैदी बंद हैं। क्या वे सभी अकाट्य सबूतों के आधार पर गिरफ्तार किए गए हैं? अगर कोई महिला दहेज प्रताड़ना की झूठी रिपोर्ट लिखा दे, तो पूरे परिवार को अंदर कर दिया जाता है। लेकिन शादी के 14 महीने बाद ससुराल में बहू की मौत हो जाए तो पुलिस को कार्रवाई करने के लिए कोई सबूत नहीं मिलता। खाटूश्यामजी का मामला ऐसा ही एक आश्चर्यजनक मामला है।

ऋषिकेश राजोरिया

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com