अध्यात्म का ज्ञान देने वाला बाबा निकला वहशी, रोज करता था 10 रेप

0
52

नई दिल्ली। धर्म और आस्था के नाम पर महिला व युवतियों को हवस का शिकार बनने वाले एक और ढोंगी बाबा का पर्दाफाश हुआ है। रोहिणी के विजय विहार क्षेत्र में आध्यात्मिक विश्वविद्यालय के नाम से आश्रम चलाने वाला वीरेंद्र देव दीक्षित के कई कारनामे उजागर हुए हैं।

खुद को कृष्ण बताने वाले दीक्षित के आध्यात्मिक विश्वविद्यालय पर छापेमार कार्रवाई की गई, जिसमें कई खुलासे हुए। सीमा शर्मा ने हाई कोर्ट में वीरेंद्र देव दीक्षित के खिलाफ एक अर्जी लगाई, जिसमें कहा गया है कि बाबा ड्रग्स लेकर रोज 10 लड़कियों के साथ रेप करता था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हवस के पुजारी ने 16 हजार महिलाओं से संबंध बनाने का लक्ष्य रखा था।

हाई कोर्ट में याचिका दायर करने वाली राजस्थान की महिला आश्रम में अनुयायी बनकर रह चुकी है। उसने अपनी चारों बेटियों को बाबा की भक्ति में उसके आश्रम में ही छोड़ा था, जिसमें एक नाबालिग है, उसने अपनी मां को बताया कि बाबा ने उसके साथ भी रेप किया। महिला और उसके पति ने बाबा पर रेप का केस दर्ज कराया है।

आश्रम पर छापामारी के बाद बाबा पर रेप सहित 11 मामलों में प्रकरण दर्ज किए गए हैं। पुलिस इन सभी की जांच कर रही है। पीड़िताओं के मुताबिक बाबा हमेशा महिला शिष्यों के बीच ही रहना पसंद करता था। वह गोपियां बनाने के लिए लड़कियों को संबंध बनाने के लिए आकर्षित करता था। हाईकोर्ट के निर्देश पर आश्रम की जांच करने पहुंची महिला आयोग और पुलिस की टीम को कुछ वीडियो मिले, जिससे बाबा की काली करतूतों का खुलासा हुआ है।

इतना ही नहीं, पुलिस ने आश्रम से दो लोगों को गिरफ्तार भी किया है। सुनवाई के दौरान कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल और न्यायमूर्ति सी हरिशंकर ने कहा कि यह मामला राम-रहीम जैसा हो सकता है। सीबीआई जांच होनी चाहिए। कोर्ट ने सीबीआई को आश्रम में छापा मारने के निर्देश दिए हैं। इससे पहले छापा मारने पहुंची टीम को अनुयायियों बंधक बना लिया था। टीम ने इसी दायरे में तलाशी ली तो बाबा के अश्लील वीडियो-किताबें, जोशवर्धक दवाओं सहित कई आपत्तिजनक सामान मिले थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here