अयोध्या फैसला: मस्जिद के लिए जमीन खोजने में जुटी योगी सरकार, तीन स्थान चिह्नित

0
49

अयोध्या। सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या मामले को लेकर सुनाए गए फैसले के बाद उत्तरप्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार मस्जिद के लिए पांच एकड़ जमीन तलाशने में जुट गई है। हालांकि अब तक ये साफ नहीं हो पाया है कि मुस्लिम पक्ष जमीन के लिए मस्जिद लेना भी चाहता है या नहीं। क्योकि अब जक तक कई मुस्लिम पक्षकारों ने इस पर सहमति जताई है, जबकि कुछ पक्षकार ऐसे भी हैं जो मस्जिद लेने के पक्ष में नहीं हैं।

बता दे कि अयोध्या में ही योगी सरकार ने तीन जगह चिन्हित की है। इसमें से एक जगह डाभासेमर में नवोदय विद्यालय के सामने, दूसरी जमीन मलिकापुर प्राइमरी स्कूल के पास और तीसरी जगह चांदपुर हरिवंश के पास चिन्हित की गई है। ये तीनों ही स्थान अयोध्या सीमा के अंदर ही हैं।

गौरतलब है कि दशकों से चले आ रहे रहे अयोध्या जमीन विवाद पर देश की सर्वोच्च अदालत ने 9 नवंबर को ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए विवादित जमीन रामलला विराजमान को सौंप दी थी। साथ ही सुन्नी वक्फ बोर्ड को मस्जिद बनाने के लिए अयोध्या में ही अलग स्थान प 5 एकड़ जमीन देने का भी आदेश दिया था।

हालांकि मस्जिद लेने के लिए मुस्लिम पक्ष अब तक एकमत नहीं हो पाया हैै। अयोध्या मामले से जुड़े पक्षकारों में से एक मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से जुड़े हुए पक्षकार ने 5 एकड़ जमीन लेने से इनकार कर दिया है। जबकि इस मामले से जुड़े मुख्य पक्षकार हाशिम अंसारी के बेटे इकबाल अंसारी ने जमीन लेने का समर्थन किया है, लेकिन वह 67 एकड़ जमीन में से ही मस्जिद के लिए जमीन चाहते हैं।

इसके अलावा सेंट्रल सुन्नी वक्फ बोर्ड अभी तक जमीन लेने पर अब तक अपना रूख साफ नहीं कर पाया है। हालांकि बोर्ड ने ये भीक हा है कि जब सरकार की ओर से मस्जिद के लिए जमीन देने का प्रस्ताव दिया जाएगा, तब वे इस संबंध में विचार किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here