Breaking News

बाबरी विध्वंस: कही शौर्य तो कही शोक दिवस

Posted on: 06 Dec 2018 11:03 by Surbhi Bhawsar
बाबरी विध्वंस: कही शौर्य तो कही शोक दिवस

अयोध्या में 6 दिसंबर 1992 यानी आज ही के दिन हजारो कारसेवकों ने विवादित ढांचे को ढहा दिया था। लेकिन तमान राजनीतिक वादों-इरादों के बाद भी आज तक भव्य राम मंदिर का निर्माण नहीं हो सका. । बाबरी विध्वंस की 26वीं बरसी पर अयोध्या में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए है. चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात है। अधिग्रहित क्षेत्र की ओर जाने वाले इलाकों को सील कर दिया गया है साथ ही धारा 144 लागू कर दी गई है।

एक तरफ जहां विश्व हिंदू परिषद् इस दिन को कारसेवकपुरम में शौर्य दिवस के रूप में मनाएगा, वहीं बाबरी मस्जिद ऐक्शन कमिटी इसे बेनीगंज और टेढ़ीबाजार में काला दिवस के तौर पर मनाएगी। ऐसे में किसी भी तरह की कोई गड़बड़ी ना हो इसके लिए पुलिस खुफिया एजेंसियां होटल, धर्मशाला और अयोध्या में हर आने-जाने वालों पर नजर गड़ाए हुए है।

गौरतलब है कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर राजनीतिक उठा-पटक काफी तेज है। कुछ दिनों पहले शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अयोध्या पहुंचे थे, वही विहिप ने धर्मसभा का आयोजन किया था। इन सबके बाद आरएसएस भी मंदिर निर्माण के लिए समर्थन जुटाने के लिए देशभर में रथ यात्रा निकल रहा है।

 

 

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com