अयोध्या विवाद: राम मंदिर निर्माण की तैयारी में जोर-शोर से जुटा VHP, पत्थर तराशने का 60 फीसदी काम पूरा

सुप्रीम कोर्ट में चवल रहे अयोध्या राम मंदीर मामले को लेकर फैसला नवंबर में आ सकता है। जिसको लेकर हिंदू पक्ष ने मंदिर के लिए पत्थर तराशने का काम शुरू कर दिया है और ये कार्य करीब 60 फीसदी पूरा भी हो गया है।

0
29

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में चवल रहे अयोध्या राम मंदीर मामले को लेकर फैसला नवंबर में आ सकता है। जिसको लेकर हिंदू पक्ष ने मंदिर के लिए पत्थर तराशने का काम शुरू कर दिया है और ये कार्य करीब 60 फीसदी पूरा भी हो गया है। वहीं कई मुस्लिम बुद्धिजिवियों ने विवादित भूमि को हिंदूओं को सौंपने की बात भी कही है। लेकिन आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड ने इस मांग को ठुकरा दिया है औ कोट के फैसले के इंतजार की बात कही है।

लखनऊ में ही मुस्लिम बुद्धिजीवियों की बैठक में कहा गया था कि अयोध्या मसले का हल कोर्ट से बाहर होना चाहिए। उनका मानना था कि इस केस में दोनों की पक्षों की जीत होगी। मुस्लिम बुद्धिजीवियों का ये भी कहना था कि अगर फैसला मुसलमानों के पक्ष में आता है तो उन्हे ये भूमि हिंदुओं को सौंप देना चाहिए।

वहीं इन विचारों के विपरीत मौलाना सैयद राबे हसनी नदवी की अध्यक्षता में हुई मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड कार्यकारिणी की बैठक में अयोध्या मसले पर कोई समझौते से इनकार कर दिया गया। साथ ही समान नागरिक संहिता और तीन तलाक संबंधी कानून पर भी विस्तृत चर्चा की गई। बोर्ड की ओर से कहा गया कि समान नागरिक संहिता न सिर्फ मुसलमानों के लिए बल्कि अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों तथा अन्य समुदायों के लिए बड़ी समस्या पैदा करेगा।

इधर, अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की तैयााियों में जुटे विश्व हिंदू परिषद ने सभी पक्षों को साथ आकर मंदिर निर्माण में सहयोग देने की बात कही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here