प्रेमिका के साथ अय्याशी करने के लिए चुराते थे एटीएम से रुपए

0
42

इंदौर में पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो एटीएम में रुपए डालने का काम करता था लेकिन बाद में एटीएम से रुपए चुरा लेते थे। एक निजी कंपनी में काम करने वाले ये कर्मचारी अपनी प्रेमिकाओं के साथ अय्याशी करने के लिए एटीएम से रुपए चुराते थे। इनकी कहानी सामने आने के बाद बैंक अधिकारी भी चकित रह गए हैं।

इंदौर के एसपी प्रशांत चौबे के अनुसार एटीएम में पैसा जमा करने वाले कर्मचारी अंकित सोलंकी और विजय जीनवाल ने अपना जुर्म कबूल करते हुए यह कहा है कि दोनों ने 4 जून को रुपए जमा करने के बजाय चुरा लिए थे। एटीएम में पहले से रुपए होने की वजह से बैंक अधिकारी सहित अन्य एजेंसियों को चोरी का पता नहीं चल पाया। दोनों बदमाशों ने साजिश के तहत मशीन में खराबी बताई थी। रुपए चुराने के बाद विजय ने गुना निवासी अपनी प्रेमिका हो लाखों रुपए दे दिए थे।

पुलिस के हत्थे चढ़ने से पहले उसने प्रेमिका को फोन लगाकर शहर से बाहर भी भगा दिया। पुलिस ने उसकी प्रेमिका से संपर्क किया है। वह इंदौर में थाने पर बयान देने आ रही है और आपराधिक भूमिका पाए जाने पर उसके खिलाफ पुलिस कार्रवाई करेगी।

इधर आरोपियों ने पुलिस से यह भी कहा है कि वह ब्याज पर रुपए उधार दे देते थे। इसके अलावा 8 लाख रुपये उन्होंने खर्च भी कर दिए हैं वह अपनी अय्याशी पूरी करने के लिए एटीएम से रुपए चुराते थे। सबसे बड़ी बात यह है कि दोनों एक एटीएम से रुपए निकाल कर दूसरे एटीएम में जमा कर देते थे ।दोनों ने बताया कि सुखलिया किला मैदान नंदा नगर स्थित एटीएम से करीब 15 लाख रुपये चुराए थे। उन्होंने यह भी बताया कि विजय ने काफी रुपये अपनी प्रेमिका को दे दिए थे।

इधर पुलिस ने बैंक अधिकारियों को भी पूछताछ के लिए बुलाया है कुल मिलाकर बैंक के रिकॉर्ड के ऑडिट के बाद ही असल रुपयों की चोरी का आंकड़ा पता चल पाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here