Breaking News

अटल जी ने कई बार दोस्ती के लिए पाकिस्तान की तरफ बढ़ाया हाथ, लेकिन हर बार खाया धोखा

Posted on: 16 Jun 2018 10:16 by Surbhi Bhawsar
अटल जी ने कई बार दोस्ती के लिए पाकिस्तान की तरफ बढ़ाया हाथ, लेकिन हर बार खाया धोखा

नई दिल्ली: लाख कोशिशों के बाद भी पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। कभी भारतीय सेना को निशाना बनाकर गोलीबारी करता है, तो कभी रिहायशी इलाकों में हमला करता है। पाकिस्तान के साथ भारत के रिश्ते आज से ही नहीं बल्कि कई सालों से ऐसे ही चल रहे है। इन रिश्तो को सुधारने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने भी कई कोशिशें की, लेकिन सफल नहीं हो पाए।Image result for अटल जी ने पाकिस्तान की तरफ दोस्ती के लिए बढ़ाया हाथvia

आईए नजर डालते है अटल जी की उन्ही कोशिशों पर-

दिल्ली-लाहौर बस सेवा की शुरुआत-Image result for दिल्ली लाहौर बस सेवा की शुरुआत अटल जीvia
दरासलल, 1999 में अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री बने थे, उस समय NDA की सरकार थी। उस समय पाकिस्तान को लेकर अटल जी ने कहा था कि बहुत वक्त हो गया, कब तक दो देश आपस में लड़ाई करेंगे। इस दौरान पाकिस्तान से रिश्ते सुधारने के लिए अटल जी ने दिल्ली से लाहौर तक बस सेवा की। शुरुआत की थी इसी बस में बैठकर अटल जी खुद लाहौर पहुंचे थे। लेकिन पाकिस्तान ने दोस्ती की आड़ में कारगिल क्षेत्र में घुसपैठ कर पीठ में छुरा घोंप दिया था।

संसद हमला-Image result for संसद हमला via
इसके बाद अटल जी ने 2001 में एक बार फिर पाकिस्तान की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाया था। इस दौरान अटल जी ने पाकिस्तान के राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को मुलाक़ात के लिए भारत बुलाया था। दोनों की मुलाक़ात आगरा में हुई थी लेकिन हर बार की तरह इस बार भी पाकिस्तान अपनी हरकत से बाज नहीं आया और कश्मीर को केंद्र में रखकर बात करने की जिद पर अड़ा रहा। Image result for पाकिस्तान के राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ अटल जीvia
पाक की इस हारकत से अटल जी की दोस्ती की एक और कोशिश नाकाम हो गई। इस कोशिश के जवाब में पाकिस्तान ने दिसंबर 2001 में अपनी कायरता दिखाते हुए संसद पर हमला कर दिया। इस हमले को पाकिस्तान समर्थित आतंकियों ने ही अंजाम दिया था।

cover image source

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com