Breaking News

भारत रत्न के लिए अटल जी ने खुदका नाम प्रस्तावित करने से कर दिया था इनकार

Posted on: 18 Jun 2018 12:43 by Surbhi Bhawsar
भारत रत्न के लिए अटल जी ने खुदका नाम प्रस्तावित करने से कर दिया था इनकार

नई दिल्ली: भारतीय राजनीति का वो बेदाग़ चेहरा जिनका नाम पक्ष हो या विपक्ष हर पार्टी में सम्मान के साथ लिया जाता है। देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी वो शख्स है जिन्होंने भारत रत्न के लिए अपना नाम प्रस्तावित करने से मना कर दिया था।Image result for भारत रत्न के लिए अटल जीvia
दरअसल, कारगिल युद्ध के बाद भाजपा नेताओं ने उन्हें सर्वोच्च नागरिक सम्‍मान भारत रत्‍न के लिए खुद का नाम प्रस्‍तावित करने का सुझाव दिया था। लेकिन, उन्‍होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया था। इस बात की जानकारी वाजपेयी सरकार में मीडिया सलाहकार रहे वरिष्‍ठ पत्रकार अशोक टंडन ने दी थी।Image result for भारत रत्न के लिए अटल जीvia
पत्रकार अशोक टंडन ने बताया था कि पार्टी के नेताओं का मानना था कि1998 में परमाणु परीक्षण और उसके बाद 1999 के लोकसभा चुनावों में भाजपा की जीत के बाद अटल बिहारी वाजपेयी देशभर के सबसे लोकप्रिय नेता है। टंडन ने बताया कि नेताओं ने इसके लिए वाजपेयी को मनाने की भी कोशिश की थी।Image result for भारत रत्न के लिए अटल जीvia
इतना ही नहीं उन लोगो ने इसके लिए कई योजनाएं भी बनाई लेकिन सफल नहीं हो पाई। अशोक टंडन के मुताबिक, भाजपा नेताओं ने वाजपेयी के विदेश यात्रा पर जाने के बाद उनका नाम भारत रत्‍न के लिए प्रस्‍तावित करने की योजना बनाई थी। हालांकि, वाजपेयी को इसका आभास हो गया और उन्‍होंने ऐसा करने से मना कर दिया था। Image result for भारत रत्न के लिए अटल जीvia
नेताओं ने पंडित जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी का उदाहरण भी पेश किया उन्होंने कहा कि दोनों पूर्व प्रधानमंत्रियों ने पद पर रहते हुए भारत रत्‍न के लिए अपना नाम प्रस्‍तावित किया था। इस पर वाजपेयी जी ने कहा कि सम्‍मान के लिए खुद का नाम प्रस्‍तावित करना उचित नहीं होगा।Image result for भारत रत्न के लिए अटल जीvia
बता दे कि 2014 में नरेंद्र मोदी सरकार ने उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया था। अटल जी तीन बार देश के प्रधानमंत्री रह चुके है।

cover image source

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com