Breaking News

आशीष निगम ने एक सिलाई मशीन से यूनिट शुरू कर 6 राज्यों में मचाई धूम

Posted on: 26 Jun 2018 12:44 by Praveen Rathore
आशीष निगम ने एक सिलाई मशीन से यूनिट शुरू कर 6 राज्यों में मचाई धूम

इंदौर। कहते हैं काम वहीं करना चाहे, जिसमें रुचि हो, किसी के कहने या बेमन से काम करने पर सफलता भी रुठ जाती है। जो करो, मन से करो। कुछ इसी तरह के विचार हैं युवा उद्योपति आशीष निगम के। आशीष जी ने अपने करियर की शुरुआत तो इलेक्ट्रॉनिक शॉप से की, लेकिन यहां इनका मन नहीं रमा, या यूं कहें कि किस्मत को ये मंजूर नहीं था। दो साल इस क्षेत्र में काम करने के बाद आशीष जी ने बहुत ही छोटे रूप में एक कमरे और एक सिलाई मशईन से रेडीमेड कपड़ों का कारोबार शुरू किया और आज वे अपना ब्रांड वीनर छह राज्यों तक पहुंचा चुके हैं। घमासान डॉटकॉम ने उनसे बातचीत की, प्रस्तुत है प्रमुख अंश….

सवाल : आप पिछले दो दशक से रेडीमेड इंडस्ट्रीज में हैं, कैसा रहा ये सफर?
जवाब : मैंने शुरुआत में एक सिलाई मशीन से एक कमरे से गारमेंट इंडस्ट्रीज में पदार्पण किया। उस वक्त प्रदेश के देवास, शाजापुर, उज्जैन, रतलाम, भोपाल, रीवा, सतना सहित मालवाँचल में रेडीमेड इंदौर से ही जाता था। तब मैंने वीनर ब्रांड से रेडीमेड में कारोबार की शुरुआत की। कालांतर में गुजरात, राजस्थान और महाराष्ट्र से भी डिमांड आने लगी। पिछले एक दशक से साउथ के आंध्रप्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु से भी अच्छी मांग आने लगी है। आज साउथ के हर बड़े छोटे शोरूम पर वीनर के प्रोडक्ट उपलब्ध हैं।

सवाल : कारोबार की शुरुआत कैसे और कब हुई?
जवाब : 1982 से 1984 तक मैं इलेक्ट्रॉनिक व्यवसाय में था, लेकिन मुझे इस सेगमेंट में काम करने में मजा नहीं आया, फिर मैंने रेडीमेड कपड़ों का व्यापार शुरू किया। वैसे मेरे ताउजी और मेरे कजिन भी रेडीमेड कारोबार करते थे, फिर मैने भी यही काम चुना और छोटे रूप में कारोबार की शुरुआत की। मेरे पिताजी प्रेमनारायणजी निगम गनर्वमेंट कॉन्ट्रेक्टर हैं, आज मेरे लडक़े आयुष निगम और आदर्श निगम दोनों एमबीए किया और वे मेरे साथ यही कारोबार संभाल रहे हैं।

सवाल : एक्सपोर्ट में जाना का इरादा है क्या?

जवाब : वैसे तो डोमेस्टिक मार्केट ही बहुत बड़ा है और इतने ऑर्डर हैं कि सप्लाय नहीं कर पाते हैं। हालांकि एक्सपोर्ट में भी प्रयास किया था और काफी आर्डर किए, लेकिन एक्सपोर्ट में कॉम्पिटिशन कुछ ज्यादा ही है। चूंकि डोमेस्टिक में भी काफी संभावनाएं हैं, इसलिए फिलहाल यही कर रहे हैं।

सवाल : रेडीमेड इंडस्ट्रीज का वर्तमान समय में सिनेरियो कैसा है?
जवाब : सरकार की नीतियां अच्छी है। केंद्र सरकार ने गारमेंट इंडस्ट्रीज के लिए अच्छी सब्सिडी की घोषणा की है, हम यूनिट का विस्तार करने जा रहे हैं। पहले मैं अकेला ही कारोबार संभाल रहा था, लेकिन अब मेरे दोनों सुपुत्र यश और आदर्श भी कारोबार संभाल रहे हैं,जल्द ही प्लांट का विस्तार करने जा रहे हैं।

सवाल : कारोबार के साथ और किन किस संस्थाओं से जुड़े हैं?
जवाब : मैं रेडीमेड वस्त्र व्यापारी संघ का पिछले १८ साल से सचिव हूं। खास बात ये है कि सभी साथियों का प्रेम और स्नेह इतना है कि पिछले 18 साल से संस्था में निर्विरोध चयन होता रहा है। हमने संस्था के बैनर तले अभी तक अभा स्तर के ८ गारमेंट फेयर लगाए हैं, जिसको जबर्दस्त रिस्पॉन्स मिला है। मैंने इंदौर लाइव के नाम से न्यूज पेपर का प्रकाशन भी किया है।

सवाल : आपकी हॉबी क्या है?
जवाब : खेलकूद और दोस्तों के साथ समय बिताना मुझे अच्छा लगता है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com