अमिताभ बच्चन को अमेरिकी प्रोस्थेटिक एक्सपर्ट ने दिया मिर्जा लुक, एक दिन की फीस डेढ़ लाख रुपए

0
25

मुंबई। फिल्म गुलाबो सिताबो के लिए अमिताभ बच्चन का पहला लुक आने के बाद से ही इसकी हर तरफ तारीफ की जा रही है। फिल्म में बिग बी लखनऊ के मिर्जा का रोल निभाते हुए नजर आ रहे हैं। जिसके चलते उनके मिर्जा वाले लुक के लिए काफी का मेहनत की जा रही है जिसके लिए अमेरीका से एक महिला प्रोस्थेटिक विशेषज्ञ को बुलवाया गया है। मिर्जा वाला लुक देने के लिए बिग बी के चश्मा, माथे की सलवटें, नाक, दाढ़ी-मूंछें और आईब्रो पर काफी काम किया गया है।

बता दे कि अमिताभ की नकली नाक के प्रॉस्थेटिक वर्क में ही रोजाना कुल तीन घंटे का समय लगता है। इसके लिए रोजाना डेढ़ लाख रुपए खर्च किए जाते है। बताया जा रहा है कि बच्चन के इस लुक के लिए कइ्र प्रकार के चेहरों का टेस्ट लिया गया था जिसके बाद इस लुक को सिलेक्ट किया गया।

अमिताभ के लुक को बनाने में चश्में से लेकर दाढ़ी-मूंछों तक का खास तौर पर ध्यान रखा गया है। इसके चलते लिए एक ऐसे चश्में का उपयोग किया जा रहा है जिससे मिर्जा साहब की आंखे बड़ी दिखे। इसके अलावा माथे की सलवटे बनाने के लिए लेटेक्स और सिलिकॉन की मदद से उनके फोरहैड पर बुजुर्गों वाला रिंकल टेक्स्चर दिया है। वहीं स्कल्पचिंग, मॉडलिंग और कास्टिंग की मदद से उनकी नाक का प्रोस्थेटिक शेप तैयार साथ लेयरिंग कर इसे चेहरे पर सेट किया जाता है।
अमिताभ बच्चन को मिर्जा लुक देने के लिए उनकी दाड़ी-मुछों और आईब्रो पर भी काफी कम किया गया है और ग्लूफाउंडेशन से दाढ़ी-मूंछों के स्किन पैच तैयार किए गए हैं। बताया जारहा है कि बच्चन के मिर्जा वाल लुक पर वर्क कर रहीं अमेरिकी आर्टिस्ट पहले भी कई बड़े प्रोजेक्ट में काम कर चुकी हैं।

अमिताभ का कैरेक्टर स्केच
जिंदगी
लखनऊ में मिर्जासाहब की एक बड़ी सी हवेली है जिसमें कई किरायेदार रहते हैं। यह उनके मिनी फैमिली और छोटी सी दुनिया है।

भाषा
बिग बी के लुक के अलावा भाषा पर भी विशष ध्यान दिया गया है। अग्निपथ की तरह इस फिल्म के लिए भी एक्सेंट बदले जाएंगे। साथ ही नवाबों वाली उर्दू के शब्दों को भी संवादों में जगह दी जाएगी और के लिए लोकल विशेषज्ञों की मदद लेकर बातचीत के लहजे पर लहजा पकड़ बनाई जाएगी।

ड्रेस और अटायर
फिल्म में अतिाभ पांरपरिक मुस्लिमों के पहनावे में नजर आएंगे और पूरी फिल्म में सफेद कुर्ते में ही दिखेंगे। इसके अलावा ट्रेडिशनल मुस्लिम जैसा दिखने के लिए ऊंचा उठा हुआ पायजामा भी पहनेंगे और उनके सिर पर मफलर और टोपी भी रहेगी।

व्यक्तित्व
मिर्जा साहब व्यतित्व उसूलपसंद मुसलमान जैसा बनाया गया है। जो खुद से ज्यादा दूसरों की परेशानियां सुलझाते हैं। वह धार्मिक मान्यताओं को मानने वाले पारंपरिक सुन्नी मुसलमान हैं और पांच वक्त की नमाज के नियम का पालन करते हैं। अगर बॉडी लैंग्वेज की बात की जाए तो मिर्जा साहब की कमर झुकी रहेगी और वह थोड़े गुस्सैल रहंगे।

बता दे कि अमिताभ इससे पहले भी मुस्लिम कैरेक्टर का रोल प्ले कर चुके है। उन्होने ईमान धरम, कुली, खुदा गवाह में इस तरह ाक रोल किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here