संपत्ति के मामले में नंबर वन नहीं है अमित शाह | Amit Shah is not number one in terms of assets

0
55
amit shah

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह यूं भले ही अपनी पार्टी और राज्य के नंबर वन नेता हों, लेकिन संपत्ति के मामले में वे अपनी ही पार्टी के सीआर पाटिल से काफी पीछे हैं। नवसारी से बतौर भाजरा प्रत्याशी नामांकन दाखिल करने वाले पाटिल जहां 45 करोड़ की संपत्ति है वहीं शाह की संपत्ति महज 17 करोड़ रुपए ही है। संपत्ति के मामले में वे केवल शाह से ही नहीं गुजरात के सबी 26 प्रत्याशियों से आगे है।

must read: करोड़ों के मालिक है अमित शाह, तीन गुना बढ़ी संपत्ति | Amit Shah property increased three times in 7 years

भाजपाई दिग्गज लालकृष्ण आडवाणी का टिकट काटकर गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव मैदान में उतरे शाह की ओर से पेश शपथ पत्र के मुताबिक भाजपा का प्रभाव बढ़ने के साथ ही उनकी संपत्ति भी बढ़ती जा रही है। बीते सात साल में उनकी संपत्ति तीन गुना तो महज पांच साल में उनकी पत्नी की संपत्ति 16 गुना बढ़ी है। शाह और उनकी पत्नी की चल-अचल संपत्ति 2012 के करीब 12 करोड़ रुपए से बढ़कर 39 करोड़ रुपए तक पहुंच रही है। इसमें से 23.45 करोड़ रुपए की विरासत में मिली संपत्ति भी शामिल है।

नामांकन दाखिल करते समय शाह के पास 20,633 रुपए और पत्नी के पास 72,578 रुपए नकदी थे। पाटिल के शपथ पत्र के मुताबिक उनकी चल संपत्ति 14.97 करोड़ और 3.26 करोड़ रुपए की व्यक्तिगत संपत्ति है। उन पर बैंक का कोई बकाया नहीं है। उधर, पाटिल का शपथ पत्र बताता है उनके पास 12.61 करोड़ रुपए की चल संपत्ति भी है। उनकी पत्नी गंगाबेन के पास 92.08 लाख की चल संपत्ति है। इसके अलावा सीआर पाटिल की खुद की संपत्ति का मूल्य 5.29 करोड़ रुपए है। विरासत में मिली संपत्ति भी 28.69 लाख रुपए की है।

must read: वायनाड से जुड़ी है गांधी परिवार की यादें, बेहद ख़ास है रिश्ता | Wayanad is associated with the memories of Gandhi family

उन्होंने यह भी साफ किया है कि उन पर बैंक का कोई बकाया यानी कर्ज नहीं है। खास बात यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वाराणसी सीट की विकास गतिविधयों की कमान भी पाटिल के हाथ ही है। उधर, उनकी पत्नी गंगाबेन की संपत्ति 24.80 करोड़ रुपए है। पाटिल के पास 56 लाख से ज्यादा के सोने-चांदी के जेवरात भी है। पत्नी के पास भी इससे कुछ ज्यादा के जेवरात है। दोनों का बैंक बैलेंस साढ़े बाईस लाख से ज्यादा औऱ करीब सवा सात लाख की एफडी भी है। बंद पड़ी साई आशीष डाइंग मिल के 29 लाख शेयर भी पाटिल के पास है। पाटिल दो बार सांसद बन चुके हैं और ठगी का एक केस भी उनके खिलाफ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here