Breaking News

वास्तु व स्थापत्य का अद्भुत मेल..मीनाक्षी मंदिर

Posted on: 08 Jun 2018 07:42 by shilpa
वास्तु व स्थापत्य का अद्भुत मेल..मीनाक्षी मंदिर

नई दिल्ली : हजारो सालो से अनेको धर्मो ,जातियों को समेटे हुए आस्था की इबारत लिखता रहा है। भारत में कई ऐसे धार्मिक स्थान है जहा हर साल हजारो की तादात में श्रद्धालु अपनी मुराद लेकर यहाँ पहुंचाते है। आज हम जानेंगे तमिलनाडु स्थित मीनाक्षी अम्मन मंदिर जो माँ पार्वतीको समर्पित है।

aerial image of a temple campus

माँ मीनाक्षी देवी,पार्वती का अवतार व भगवान विष्णु की बहन है। मदुराई स्थित मीनाक्षी मंदिर अपने धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है। ये मंदिर कई अलग अलग नामो से जाना जाता है जैसे मीनाक्षी मंदिर ,मीनाक्षी अम्मन मंदिर और मीनाक्षी सुंदरेश्वर मंदिर। इस मंदिर से काफी पुराणी मान्यताये जुडी है। उसके अनुसार भगवान शिव मदुराइ नगर के राजा मलयध्वज की पुत्री राजकुमारी से विवाह रचाने यहाँ आए थे। इसलिए यह मंदिर हिन्दू धर्म में आस्था रखने वालों के लिए एक तीर्थस्थान है।

वास्तु व स्थापत्य का अद्भुत मेल

वास्तु व स्थापत्य का अद्भुत मेल-
इस मंदिर का वास्तु व स्थापत्य कला अद्भुत है और आपको आश्चर्यचकित कर देगा। यह मदिर कुशल रंग और अद्भुत चित्रकारी का मेल है। मंदिर के 12 भव्य गोपुरम देखने लायक है। इस मंदिर का वर्णन तमिल साहित्य में भी मिलता है। इसका विकासकार्य 17 वी शताब्दी में पूर्ण किया गया। ध्यान से देखने पर मंदिर के आठ खम्बो में माँ लक्ष्मी की मुर्तिया अंकित है। साथ ही उन खम्बो पर भगवान शिव से जुडी पौराणिक कथाये भी लिखी गयी है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com