दीपक से जुड़े इन उपायों से पूरी होती हैं सभी मनोकामना

0
540

हिन्दू मान्यताओं के अनुसार किसी भी पूजा में दीपक का सबसे ज्यादा ही महत्व रहता हैं। कोई भी पूजा बिना दीपक लगाए पूरी नहीं मानी जाती हैं। पूजा के दौरान अलग-अलग साधना के लिए विभिन्न दीपक का प्रयोग किया जाता है जैसे मिट्टी का दीपक, आटे की दीपक, तांबे का दीपक, चांदी का दीपक, लोहे का दीपक, पीतल या सोने की धातु का दीपक आदि। अलग- अलग समस्याओं के लिए अलग अलग दीपकों का प्रयोग किया जात हैं।

1- नौकरी से जुड़ी किसी भी परेशानी को दूर करने के लिए शनिवार की शाम पीपल के वृक्ष की जड़ में सरसों के तेल का चौमुखा दीया जलाना चाहिए।

2- व्यापार में सफलता के लिए भगवान लक्ष्मी नारायण के मंदिर में गाय के शुद्ध घी का दीया सुबह के समय जलाकर लाल गुलाब के फूल भगवान को अर्पित करें।

3- शनि को प्रसन्न करने के लिए शिवलिंग के पास तिल के तेल का एक दीया जलाए। यह आपको यह तरह के रोग से दूर रखता हैं।

4- आटे में गंगाजल मिलाकर उसका दीया बनाकर उसमें सरसों का तेल भरकर उसमें कलावे की 4 बाती लगाकर प्रार्थना करते हुए दीया जलाएं। ऐसा करने से आपके शत्रु भी आपका सहयोग करने लगेगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here