अपने रूख पर कायम ऑल इंडिया पर्सनल लाॅ बोर्ड, अयोध्या विवाद पर समझौते से इनकार

शनिवार को लखनऊ में हुई आॅल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड की हुई जिसमें फैसला लिया गया है कि अयोध्या मसले को लेकर कोई भी समझौता नहीं किया जाएगा।

0
71
ram mandeer-babari masjid

लखनऊ। शनिवार को लखनऊ में हुई आॅल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड की हुई जिसमें फैसला लिया गया है कि अयोध्या मसले को लेकर कोई भी समझौता नहीं किया जाएगा। नदवा कॉलेज में आयोजित बैठक में उम्मीद जताई गई है कि सुप्रीम कोर्ट से उनके पक्ष में ही फैसला आएगा। इसके अलावा बैठक के दौरान तीन तलाक को लकर बने कानून को शरियत के खिलाफ माना गया है और इसके खिलाफ कोर्ट का रूख करने का भी फैसला लिया गया है।

गौरतलब है कि इससे दो पहले लखनऊ में ही मुस्लिम बुद्धिजीवियों की बैठक भी हुई थी। जिसमें कहा गया था कि अयोध्या मसले का हल कोर्ट से बाहर होना चाहिए। उनका मानना था कि इस केस में दोनों की पक्षों की जीत होगी। मुस्लिम बुद्धिजीवियों का ये भी कहना थ्ज्ञा कि अगर फैसला मुसलमानों के पक्ष में आता है तो उन्हे ये भूमि हिंदुओं को सौंप देना चाहिए। इस बैठक के दौरान हृदय रोग विशेषज्ञ पद्मश्री डॉ. मंसूर हसन, पूर्व मंत्री मोइद अहमद, रिटायर्ड आइपीएस वीएन राय, लव भार्गव सहित कई लोगों ने अपने विचार रखे।

वहीं इन विचारों के विपरीत मौलाना सैयद राबे हसनी नदवी की अध्यक्षता में हुई मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड कार्यकारिणी की बैठक में अयोध्या मसले पर कोई समझौते से इनकार कर दिया गया। साथ ही समान नागरिक संहिता और तीन तलाक संबंधी कानून पर भी विस्तृत चर्चा की गई। बोर्ड की ओर से कहा गया कि समान नागरिक संहिता न सिर्फ मुसलमानों के लिए बल्कि अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों तथा अन्य समुदायों के लिए बड़ी समस्या पैदा करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here