Breaking News

अलीगढ़ मर्डर केस- मासूम के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आई ये हकीकत, पढ़कर कांप जाएगी रूह | Aligarh Girl Assassination Know Full PostMortem Reports

Posted on: 07 Jun 2019 19:19 by bharat prajapat
अलीगढ़ मर्डर केस- मासूम के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आई ये हकीकत, पढ़कर कांप जाएगी रूह | Aligarh Girl Assassination Know Full PostMortem Reports

उत्तरप्रदेश के अलीगढ़ में हुई ढाई साल की मासूम की निर्मम हत्या के बाद देशभर में गुस्से का माहौल बना हुआ है। अलीगढ के कानूगोयान मोहल्ला निवासी बनवारी लाल शर्मा की ढाई साल की बेटी ट्विंकल शर्मा 30 मई को अपने घर से लापता हो गई थी। जिसके बाद पुलिस ने बच्ची के शव को पास से ही कूड़े के ढेर से बरामद किया था। वहीं बच्ची के घरवालों ने पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं। उनका कहना है कि पुलिस शुरू से ही इस मामले में टाल मटोल करती रही है।

पुलिस का इस मामले में जो कह रही है पोस्टमार्टम रिपोर्ट उसके विपरीत ही कहानी बयां कर रही है। पुलिस का कहना है कि बच्ची के साथ रेप नहीं हुआ है लेकिन पीएम रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि बच्ची का शरीर इतना गल गया है कि रेप जैसे मामले की जांच ही नही हो सकती है। बताया जा रहा है कि परिजनो द्वारा हंगामा किए जाने के बाद ही पुलिस ने आरोपियों को हिरासत में लिया है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट का खुलासा-
पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार बच्ची की मौत का कारण दम घुटना बताया जा रहा है। साथ ही बच्ची के लेफ्ट चेस्ट पर पिटाई, सारी पसलियां टूटी हुई, बायें पैर में फ्रैक्चर, आंखों पर जख्म, सिर में चोट के निशान भी पाए गए हैं। इसके अलावा मासूम का सीधा हाथ कंधे की तरफ से कटा हुआ है और उसे बहुत ज्यादा पीटा गया है और उसके शरीर में कीड़े पड़ गए थे, जिससे हड्डी तक एक्सपोज हो रही है।

दो आरोपी गिरफ्तार-
इधर सोशल मीडिया में यह मुद्दा आने के बाद इसका हर तरफ विरोध प्रदर्शन किया जाने लगा जिसके बाद पुलिस हरकत में आई और एक इंस्पेक्टर, एक सिपाही और तीन दरोगा को सस्पेंड कर दिया गया है। अलीगढ़ के एसएसपी आकाश कुलहरि के अनुसार कानूगोयान मोहल्ला निवासी बनवारी लाल शर्मा की ढाई साल की बेटी ट्विंकल शर्मा बेटी की लाश घर के पास ही कूड़े के ढेर में मिली थी। जिसके बाद इस मामले में जाहिद और असलम को हिरासत में ले लिया गया है।

एसआई का हुआ गठन-
वहीं इस मामले में एसआईटी का गठन कर दिया गया है। साथ ही आरोपियों पर एनएसए (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) भी लगाया जा सकता है। इसके अलावा यह केस फास्ट ट्रेक कोर्ट में चलाया जाएगा। पुछताछ में आरोपियों ने बताया कि उनका बनवारी से रुपयोें को लेकर लेन देन था जिसके चलते उनके बीच झगड़ा भी हुआ था। उन्होने बनवारी को 10 हजार रुपये उधार दिए जिसे वह नहीं चुका पा रहा था।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com