अपनी रचनाओं में ठेठ शब्दों का उपयोग करना चाहिए

0
10
Akhil Bharatiya Mahila Sahitya Samagam

अखिल भारतीय महिला संत समागम इंदौर जिसका आयोजन मामा साहित्य मंच तथा तमाशा डॉट कॉम द्वारा किया जा रहा है जिसमें आज लेखिकाओं द्वारा यह कहा गया कि अपनी रचनाओं में हमें ठेठ शब्द का उपयोग करना चाहिए अपनी रचनाओं में मुहावरों और लोकोक्तियों का अधिक से अधिक उपयोग किया जाना चाहिए।

Akhil Mahila Sahitya Samagam

इससे रचना में ना केवल रोचकता बनी रहेगी बल्कि वह पाठ को तक पहुंचाने में भी बहुत आसानी होगी हिंदी के विकास में आंचलिक बोलियों का बहुत अधिक महत्व है। हमें अपनी रचनाओं में अंग्रेजी के शब्दों की बजाय ठेठ हिंदी शब्दों का उपयोग करना चाहिए इन बोलियों से हमारा साहित्य बहुत रोचक हो सकेगा।

Read More:- कविता आज मंदिरों से निकलकर आम सड़क पर आ गई है: Shobana Shyam Mittal

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here