Breaking News

प्रियंका गांधी पर सस्पेंस ख़त्म, वाराणसी से मोदी को चुनौती देंगे अजय राय | Ajay Rai challenge Modi from Varanasi…

Posted on: 25 Apr 2019 12:47 by Surbhi Bhawsar
प्रियंका गांधी पर सस्पेंस ख़त्म, वाराणसी से मोदी को चुनौती देंगे अजय राय | Ajay Rai challenge Modi from Varanasi…

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के वाराणसी से चुनाव लड़ने की तमाम अटकलों पर आज विराम लग गया है। अजय राय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक बार फिर चुनौती देंगे। कांग्रेस ने गुरूवार को वाराणसी के रण में अजय राय को उतारा है। 2014 के लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस ने अजय राय को ही यहां से टिकट दिया था लेकिन वह अपनी जमानत भी नहीं बचा सके थे।

कांग्रेस ने अपने दो उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया है। इसमें वाराणसी से अजय राय और गोरखपुर से मधुसुदन तिवारी को चुनाव मैदान में उतारा है। इस सूची के साथ ही कांग्रेस ने अपने सभी 424 उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया है।

गौरतलब है कि पिछले लंबे समय से प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने की खबर सामने आ रही थी। वही कांग्रेस के कार्यकर्ता भी प्रियंका गांधी से लगातार चुनाव लड़ने की मांग कर रहे थे। कई बार तो कार्यकर्ताओं के पूछने पर प्रियंका गांधी ने उनसे ही पूछ लिया कि वाराणसी से लड़ लू क्या? प्रियंका गांधी के ऐसा कहने पर राजनीतिक गलियारों में हलचल पैदा कर दी थी।

भाजपा के प्रत्याशी से हुई थी राजनीतिक सफ़र की शुरुआत

अजय राय के राजनीतिक सफ़र की शुरुआत 1996 में भाजपा के प्रत्याशी के तौर पर की थी। इस दौरान उन्हें उत्तर प्रदेश में विधानसभा उम्मीदवार बनाया और उन्होंने जीत दर्ज की थी। इसके बाद अजय राय सपा में शामिल हो गए और 2009 लोकसभा चुनाव लड़ा लेकिन जीत नहीं सके। इसके बाद वह कांग्रेस में शामिल हो और 2012 में विधायक बने।

लोकसभा चुनाव 2014 में अजय राय ने वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ ताल ठोका लेकिन सफल नहीं हो पाए। इस दौरान उन्होंने नरेंद्र मोदी को बाहरी और अरविंद केजरीवाल को भगोड़ा करार दिया था लेकिन उनका ये दांव काम नहीं आया। इस चुनाव में उन्हें महज 75 हजार वोट ही मिल सके थे।

वाराणसी सीट का समीकरण

वाराणसी लोकसभा सीट पर सांतवें चरण में वोट डाले जाएंगे। इस सीट पर जातीय समीकरण की बात करें तो यहां निर्णायक भूमिका में ब्राह्मण, वैश्य और कुर्मी मतदाता है। इस सीट पर करीब तीन लाख वैश्य, ढाई लाख कुर्मी, ढाई लाख ब्राह्मण, तीन लाख मुस्लिम, 1 लाख 30 हजार भूमिहार, 1 लाख congre, पौने दो लाख यादव, 80 हजार चौरसिया, एक लाख दलित और एक लाख के करीब अन्य ओबीसी मतदाता हैं।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com