कमलनाथ से भिडऩा महंगा पड़ा पटवारी को, अहमद पटेल भी नहीं दिला पाए टिकट | Ahmed Patel not got a ‘Ticket’

0
49
kamalnath jitu patwari

इंदौर,राजेश राठौर: मंत्री जीतू पटवारी इंदौर से अपना टिकट तय मानकर चल रहे थे, लेकिन मुख्यमंत्री कमलनाथ के आगे उनकी नहीं चली। कमलनाथ, पटवारी से खासे नाराज हैं। जब लोकसभा चुनाव को लेकर मध्यप्रदेश के मामले में कमलनाथ ने तय किया कि कोई भी मंत्री को टिकट नहीं दिया जाएगा, उसके बावजूद जीतू पटवारी अपने स्तर पर प्रयास करने लग गए। बयानबाजी की। कमलनाथ ने इंकार किया, लेकिन नहीं माने।

प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया के जरिये अहमद पटेल से बात की और उसके बाद पटवारी हफ्तेभर से मानकर चल रहे थे कि उनका टिकट तय हो गया है। परसों तो उनके समर्थकों ने जश्न मनाना भी शुरू कर दिया था कि पटवारी का टिकट हो गया है। कल शाम तक टिकट घोषित होने के पहले तक पटवारी मानकर चल रहे थे कि उनका टिकट तय है। इसी कारण वे रोजाना शहर की हर विधानसभा में पहुंच रहे थे। इसके अलावा पटवारी ने चुनावी योजना बनाना शुरू कर दी थी। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 14 अप्रैल को भोपाल में मीडिया से बातचीत के दौरान जिस तरह से पटवारी को फटकारा था, उससे भी साफ हो गया था कि कमलनाथ खासे नाराज हैं। पटवारी फिर भी नहीं माने और टिकट के लिए प्रयास करते रहे। दिग्विजयसिंह, पटवारी से पहले ही नाराज चल रहे हैं। कमलनाथ के आगे अहमद पटेल की एक न चली।

पटवारी के समर्थक तो कह रहे थे कि राहुल गांधी के ऑफिस से भी मैसेज मिल गया है कि पटवारी ही चुनाव लड़ेंगे। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने काफी पहले पंकज संघवी को कह दिया था कि यदि कोई राष्ट्रीय नेता इंदौर से चुनाव नहीं लड़ा, तो तुम्हारा टिकट तय है। कमलनाथ चाहते थे कि इंदौर से ज्योतिरादित्य सिंधिया चुनाव लड़ें, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here