चुनाव आयोग की सख्ती के बाद योगी आदित्यनाथ को फिर याद आए ‘बजरंग बली‘ | After the strictness of the Election Commission, Yogi Adityanath remembers again, ‘Bajrang Bali’

0
30

आचार संहिता उल्लंघन के मामले में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर चुनाव आयोग ने मंगलावर को 72 घंटे के प्रचार पर रोक लगा दी थी। चुनाव आयोग के तहत सीएम योगी चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगे। अब ऐसे में उन्होंने बीच का रास्ता निकाल लिया है। वे बुधवार सुबह लखनऊ के हनुमान सेतु मंदिर पहुंचे, जहां उन्होंने पूजा-अर्चना कर भगवान से आशीर्वाद मांगा।

यहां उन्होंने कुछ देर रूककर हनुमान चालीसा का भी पाठ किया। बताया जा रहा है कि चुनाव आयोग ने सीएम योगी के भाषण देने पर प्रतिबंध लगाया था। ऐसे में योगी आदित्यनाथ का मंदिर पहुंचना रोक का तोड़ माना जा रहा है। गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने आचार संहिता उल्लंघन के मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ पर 72 घंटे और बसपा सुप्रीमो मायावती पर 48 घंटे तक चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी थी।

चुनाव आयोग की बड़ी कार्रवाई, योगी और मायावती के प्रचार पर लगाई रोक

विवादित बयान देने के मामले में चुनाव आयोग ने मायावती और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर सख्त एक्शन लिया है। आयोग ने योगी और मायावती के प्रचार करने पर रोक लगा दी है. मायावती 48 घंटे और योगी आदित्यनाथ 72 घंटे चुन्जाव प्रचार नहीं कर पाएंगे। चुनाव आयोग की ये रोक 16 अप्रैल से शुरू होगी।

चुनाव आयोग द्वारा लगाए गए बैन के दौरान योगी आदित्यनाथ और मायावती ना ही कोई रैली को संबोधित कर पाएंगी ओए नाही सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर पाएंगे। आयोग के इस कदम के बाद योगी आदित्यनाथ 16, 17 और 18 अप्रैल और मायावती 16 और 17 अप्रैल को कोई चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगी।

मायावती ने मांगे थे मुस्लिम वोट

उत्तर प्रदेश के देवबंद में बसपा [रामुख मायावती ने चुनावी सभा में मुस्लिम समुदाय से वोटों की अपील की थी। मायावती ने कहा था कि मुस्लिम समुदाय के लोग अपना वोट बंटने ना दें और सिर्फ महागठबंधन के लिए वोट दें। मायावती का ये बयान धर्म के नाम पर वोट मांगने के नियम का उल्लंघन है।

योगी का अली-बजरंगबली

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मायावती पर हमला करते हुए कहा था कि विपक्ष को अली पसंद है, तो हमें बजरंग बली पसंद हैं। दोनों नेताओं के ऐसे बयानों को आचार संहिता का उल्लंघन माना गया है और चुनाव आयोग ने इस पर संज्ञान लिया है

सुप्रीम कोर्ट की फटकार

गौरतलब है कि सोमवार सुबह ही सुप्रीम कोर्ट ने मायावती के देवबंद रैली में दिए गए भाषण पर आपत्ति जताई थी। कोर्ट चुनाव आयोग को फटकार लगाई गई थी कि आयोग ने अभी तक इस मामले में क्या कार्रवाई की है।आयोग अभी तक सिर्फ नोटिस ही जारी कर रहा है, कोई सख्त एक्शन क्यों नहीं ले रहा है।

Read More : कांतिलाल भूरिया को लोगों ने घेरा, बोले, 30 हजार से हारोगे

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here