Breaking News

मंत्री पटवारी ने स्वीकार की हार कहा – प्रदेश की उन्नत के लिए साथ मिलकर करेंगे काम | After losing the Congress, Jitu Patwari said, “Will Work together for the Upgradation of the State

Posted on: 24 May 2019 19:52 by bharat prajapat
मंत्री पटवारी ने स्वीकार की हार कहा – प्रदेश की उन्नत के लिए साथ मिलकर करेंगे काम | After losing the Congress, Jitu Patwari said, “Will Work together for the Upgradation of the State

लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद इंदौर में कांग्रेस ने प्रेस काॅन्फ्रेंस की जिसमें कांग्रेस प्रत्याशी पंकज संघवी और कमलनाथ सरकार में मंत्री जीतू पटवारी और सज्जन सिंह वर्मा ने मीडिया से बात की।

जीतू पटवारी ने कहा कि हम हार को स्वीकार करते हैं। लोकतंत्र के इस अभियान में नरेन्द्र मोदी जी देश प्रधानमंत्री बनाना चाहता था औरं इंदौर की जनता ने भी वही किया। हम बीजेपी और शंकर लालवानी बधाई देते हैं और आशा करते हैं कि उनको साथ लेकर या उनके साथ होकर इंदौर शहर के लिए जो हम सपना देखते थे उसे पूरा करेंगे।

हम इस देश के प्रथम पांच या दस शहरों में हमारा इंदौर कैसे आए इसके लिए प्रयास करेंगे। मैं ‘शंकर लालवानी’ जी से आशा करता हूं कि इंदौर शहर संसदीय क्षेत्र हर परिप्रेक्ष्य में नंबर वन आए सरकार की योजनाओं का लाभ हमारे शहर के परिवारों सबसे ज्यादा उठाएं।

जनादेश को स्वीकार करते हैं –
वहीं गुना से कांग्रेस प्रत्याशी ज्योतिरादित्य सिंधिया ही हार से जुड़े एक प्रश्न पर उन्होने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने हमेशा गुना की जनता की सेवा की है और अपने संसदीय क्षेत्र के किसी भी काम में कोई कसर नहीं छोड़ी है। लेकिन यह जनादेश है उसे हमें स्वीकार करना चाहिए और सिंधिया की हार अपने आप में प्रश्न को बनाता है। लेकिन हम समझते हैं ज्यादा गहराई का अभी समय नहीं है।

ईवीएम का मुद्दा सेकेंडरी –
ईवीएम के सवाल मंत्री पटवारी ने इस मुद्दें को सकेंडरी बताते हुए कहा कि इस वक्त किसी भी बहाने की आवश्यकता नहीं है। जनता ने मिलकर ‘नरेंद्र मोदी जी’ और भाजपा को चुना है वह स्वीकार है।

कमलनाथ सरकार है स्थाई –
साथ ही लोकसभा चुनाव के बाद कमलनाथ सरकार के बने रहने पर उठ रहे सवालों के जवाब में पटवारी ने कहा कि कमलनाथ सरकार स्थाई है और 5 साल हम लगातार मध्य प्रदेश की उन्नति के लिए सेवा ही करते रहेंगे और पांच साल बाद भी कमलनाथ सरकार जीतेगी।

वहीं लोकसभा चुनाव में मिली हार के मंत्रियों पर इस्तीफे को लेकर मंडरा रहे खतरे पर उन्होने कहा कि रविवार को मुख्यमंत्री ने सारे विधायकों की मीटिंग रखी है तब इस पर समीक्षा की जाएगी। सीएम कमलनाथ सो निर्णय लेंगे वो स्वीकार होगा।

पंकज संघवी ने भी स्वीकार की हार

पंकज संघवी ने कहा जो निर्णय आया है मैं उसे स्वीकार करता हूं और प्रदेश में कमलनाथ सरकार शहर के लिए और ग्रामीण क्षेत्र के लिए जो हमने कहा है उसे हमारे मुख्यमंत्री और अन्य मंत्रियों के साथ बैठकर काम हम काम पूरा करेंगे।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com