Breaking News

आखिर महिला वकील को क्यों दी गई 148 कोड़ों की सजा

Posted on: 14 May 2019 21:24 by Mohit Devkar
आखिर महिला वकील को क्यों दी गई 148 कोड़ों की सजा

ईरान में मानवाधिकार की जानी-मानी वकील नसरीन सोतोदह को 38 साल की कैद और 148 करो मारने की सजा मिली है इसकी जानकारी खुद उनके पति ने अपने एक फेसबुक पोस्ट के जरिए दी है। नरसिंह को यह सजा ईरान के सुप्रीम लीडर की बेज्जती करने की वजह से दी गई है।

खबरों के मुताबिक उन्हें राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर लोगों को भड़काने और सुप्रीम लीडर की बेइज्जती करने के चलते हैं यह सजा दी गई है। बता दें कि नरसिंह इरान में महिलाओं के सिर ढकने के खिलाफ खुलेआम प्रदर्शन भी कर चुके हैं। जानकारी के मुताबिक नर्सिंग को 2016 में भी इस तरह की सजा दी जा चुकी है।

नरसिंह अपना पूरा जीवन महिलाओं के हाथ और उनके अधिकारों के लिए क्या है। उन्हें दी गई सजा को एमनेस्टी इंटरनेशनल मिडिल वेस्ट एंड नॉर्थ अफ्रीका रिसर्च एंड एडवोकेसी के डायरेक्टर फिलिप लूथर ने बेहद शर्मनाक बताया है।

एमनेस्टी इंटरनेशनल ने नसरीन को दी गई सजा की कड़ी निंदा की है। संस्था के मुताबिक पिछले कई समय से करीब 7000 लोगों को ईरान की सरकार ने गिरफ्तार किया है। सभी लोगों को मानवा अधिकार के खिलाफ आवाज बुलंद करना था। बता दें कि नसरीन को पिछले साल जून में भी उन्हें नजर बंद कर दिया गया था। जिसके बाद उन्हें तेहरान के बाहर बनी जेल में भेज दिया गया था।

बता दें कि नसरीन को यूरोपियन पार्लियामेंट की तरफ से विचारों की स्वतंत्रता के सखरोव पुरस्कार दिया जा चुका है। उन्हें यह पुरस्कार कब मिला जब वह जेल में थीं। साल 2010 में उन्हें 11 साल की सजा सुनाई गई थी यह सजा उन्हें ग्रीन मूवमेंट के चलते प्रदर्शन करने और चुनाव में हुई धांधली के खिलाफ आवाज उठाने के चलते दी गई थी।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com