प्रभास की अपकमिंग फिल्म ‘आदिपुरुष’ के टीजर को काफी विरोध का सामना करना पड़ रहा है. फिल्म का टीजर इन दिनों खूब सुर्खियों में है. 2 अक्टूबर 2022 को अयोध्या में एक इवेंट के दौरान ‘आदिपुरुष’ का टीजर रिलीज किया गया. हालांकि, टीजर देखने के बाद फैंस के हाथ सिर्फ निराशा लगी.कुल 1.46 मिनट लंबे टीज़र में भगवान राम, सीता, रावण और हनुमान को गलत तरीके से पेश करने को लेकर इसकी जबरदस्त आलोचना हो रही है. विरोध का आलम ये है कि अब फिल्म पर बैन की मांग भी उठने लगी है. बॉलीवुड एक्टऱ प्रभास और सैफ अली खान की अपकमिंग फिल्म ‘आदिपुरुष’ टीजर रिलीज के बाद से ही लगातार सुर्खियों में छाई हुई है. फिल्म में सैफ अली खान के लुक को लेकर उठे विवाद का मामला शांत होने का नाम नहीं ले रहा है. इसके अलावा आदिपुरुष के हनुमान के लुक की भी जमकर आलोचना हो रही है. इस बीच फिल्म से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है.इस सब के बीच अब इसे लेकर फिल्म के निर्देशक ओम राउत की प्रतिक्रिया सामने आई है.

 कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है

एक मिडिया हॉउस से बात करते हुए ओम राउत ने कहा है कि इस फिल्म में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है. ओम राउत ने कहा, ”हमने इस फिल्म में कुछ भी गलत नहीं किया है. लोगों को यहां कुछ चीजें गलत लग रही हैं. इस फिल्म के साथ हम भगवान राम की कहानी को दुनिया के सामने लाना चाहते हैं. हम उनकी शिक्षाओं को युवाओं में फैलाना चाहते हैं. अगर हम इसका प्रतिनिधित्व इस तरह से करें जिससे हम नई पीढ़ी तक पहुंच सकें, तभी हम नई पीढ़ी से बात कर सकते हैं. क्या इस वजह से इस पर विश्वास कम है? नहीं. हमने हर चीज की पवित्रता बनाए रखी है.’

मैं रावण को ऐसे नहीं देखता

ओम राउत ने तर्क दिया कि लोग रावण को कैसे चित्रित करते हैं, यह इस बात पर आधारित है कि पहले के समय में लोग उसे कैसे देखते थे. हालांकि उसके लिए रावण अभी भी एक राक्षस है, लेकिन वह उसे एक अलग तरीके से चित्रित करते हैं. राउत बड़ी मूंछों के साथ उसकी कल्पना नहीं करते. उन्होंने कहा, “जिस रावण को हमने पहले देखा था, वह उस बुराई का कलात्मक प्रतिनिधित्व था जो रावण था. मेरा रावण भी राक्षसी है, लेकिन आज के समय में अगर मैं रावण को ऐसे ही चित्रित करता हूं, तो बस. यदि आप कहते हैं कि मैंने उसका रंग बदल दिया है, तो मैं असहमत हूं. यह वही रंग है, यह धर्म का रंग है.”

फिल्म निर्माता ने उनके द्वारा पुष्पक विमान का रूप बदलने के दावों को भी संबोधित किया, जिस वाहन पर रावण ने सीता का अपहरण किया था. राउत ने तर्क दिया, “किसने कहा कि यह पुष्पक विमान है? हमने अपनी फिल्म के सिर्फ 95 सेकेंड दिखाए हैं.” बैकलैश और आदिपुरुष का बहिष्कार करने के आह्वान के बावजूद, ओम राउत अपनी फिल्म के बारे में कुछ भी नहीं बदलने के लिए दृढ़ हैं. उन्होंने निष्कर्ष निकाला, “हम फिल्म के बारे में कही जा रही हर बात पर ध्यान दे रहे हैं. लेकिन जब फिल्म जनवरी में रिलीज होगी तो मैं किसी को निराश नहीं करूंगा.’

बता दे की यह फिल्म पौराणिक नाटक आदिपुरुष लगभग 300 करोड़ रुपये के बजट पर बनाया गया है. यह 12 जनवरी 2023 को सिनेमाघरों में दस्तक देगी.