जब भी हम कोई जरुरी फॉर्म भरते हैं तो उस फॉर्म में हम से हमारे आइडेंटी प्रूफ के तौर पर पेन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी इत्यादि के बारे में पूछा जाता है.चाहे वो फॉर्म बैंक में अपना खाता खुलवाने के लिए हो, या नया सिमकार्ड लेना हो, इस तरह की सभी फॉर्म में हमसे कुछ न कुछ आइडेंटी प्रूफ माँगा जाता है. देश के हर नागरिक के पास आधार कार्ड होना बेहद जरूरी है. भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण  की ओर से आधार कार्ड जारी किया जाता है. यह 12 अंकों का होता है. क्या आप जानते हैं कि आधार कार्ड कितनी तरह का होता है? आधार में आपका नाम, जन्मतिथि, मोबाइल नंबर, फोटोग्राफ और बायोमेट्रिक समेत कई निजी जानकारियां मौजूद होती हैं. आधार कार्ड 4 तरह के होते हैं. हर आधार के अलग अलग फीचर्स होते है. इन सभी आधार कार्ड में एक ही नंबर होता है. देखें आधार के प्रकार और उनके फीचर्स.

इस आधार कार्ड को UIDAI पोस्ट ऑफिस के जरिए लोगों को भेजा जाता है. यह एक बंद लिफाफे में आपके घर पहुंचता है. इसके अंदर एक मोटे रंग के कागज पर आपका नाम, पता, फोटो सहित कई जानकारियां लिखी होती है. इसके लिए किसी प्रकार के शुल्क का भुगतान नहीं करना पड़ता है. इसे साधारण आधार कार्ड कहते हैं.

अगर आपका ऑरिजनल आधार कार्ड खो जाता है या खराब हो जाता है, तो आप नया आधार कार्ड हासिल कर सकते हैं. इसके लिए आप यूआईडीएआई की वेबसाइट से ऑनलाइन ही आधार लेटर को बदलने के लिए 50 रुपये शुल्क के साथ ऑर्डर कर सकते हैं.

PVC आधार कार्ड एक कॉम्पैक्ट साइज का आधार कार्ड है. इसका साइज एटीएम कार्ड या डेबिट कार्ट की तरह ही होता है. इसे प्लास्टिक आधार कार्ड भी कहते हैं. UIDAI को 50 रुपये पेमेंट करके PVC आधार कार्ड ऑनलाइन बनाया जा सकता है. इसमें आपके घर का पता, फोटो आधार नंबर भी लिखा हुआ है. इसमें भी फोटोग्राफ के साथ डेमोग्राफिक जानकारियां शामिल होती हैं. ये हल्के और टिकाऊ होते हैं.