नवरात्रि पर बन रहा है खास संयोग, नौ दिन की पूजा होगी सबसे फलदायी

0
597

श्राद्ध पक्ष के खत्म होते ही शारदीय नवरात्रि शुरु हो जाएंगे। नौ दिनों तक चलने वाला नवरात्रि का यह पर्व देश भर में बड़ी ही धूम धाम के साथ मनाया जाएगा। इस साल 29 सितंबर से नवरात्रि आरंभ होने वाली हैं जो कि 7 अक्टूबर तक चलेगी और 8 अक्टूबर को दशहरा मनाया जाएगा।

इस साल नवरात्रि में कई महासंयोग बन रहे हैं अनुभवी ज्योतिषाचार्यों के अनुसार नवरात्रि के 9 दिनों में 6 दिन विशेष योग बन रहे हैं, जिसमे 2 दिन अमृतसिद्धि, 2 दिन सर्वार्थ सिद्धि और 2 दिन रवि योग बनेंगे। इन विशेष योग के चलते इस साल नवरात्रि की पूजा और ज्यादा शुभ और फलदायी मानी जा रही हैं। यह विशेष योग कुछ इस प्रकार रहेगे।

1- पहला विशेष योग 29 अक्टूबर को प्रतिपदा तिथि पर कलश स्थापना का हैं। प्रतिपदा तिथि में पूजा करना अत्यंत शुभकारी होता हैं।

2- दूसरा संयोग 30 सितंबर को अमृत सिद्धि योग है इस दिन नवरात्रि का दूसरा दिन हैं और इस दिन मां दूर्गा के ब्रम्हचारिणी स्वरुप की पूजा की जाती है।

3- तीसरा संयोग में 1 अक्टूबर को रवि योग हैं।

4- 2 अक्टूबर को अमृत और सिद्धि योग हैं इस दिन भी दुर्गा मां के स्वरुप की पूजा का विशेष महत्व माना जाता हैं यह नवरात्रि का चैथा दिन होगा।

5- 3 अक्टूबर को सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा हैं।

6- 4 अक्टूबर को रवि योग

7- 5 अक्टूबर को रवि योग

8- 6 अक्टूबर को भी सर्वसिद्धि योग रहेगा

दशहरा के दिन भी शुभ संयोग

दुर्गा नवमी के अगले दिन दशहरा का त्योहार है। देश भर में इस त्योहार का उत्साह भी सबसे ज्यादा रहता हैं। 7 अक्टूबर 2019 को महानवमी दोपहर 12.38 तक रहेगी। इसके दशमी यानी दशहरा होगा। 8 अक्टूबर को विजयदशमी रवि योग में दोपहर 2.51 तक रहेगी। यह बहुत ही शुभ मानी गई है।

शुभ मुहूर्त

नवरात्रि के दिन घट कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त 6.16 बजे से 7.40 बजे सुबह रहेगा। दोपहर में 11. 48 बजे से 12.35 के बीच अभिजीत मुहूर्त है इस मुहूर्त में कलश स्थापना बहुत शुभ रहेगी। अश्विन की प्रतिपदा तिथि 28 सितंबर को रात 11.56 से ही शुरू हो रही है और यह अगले दिन यानी 29 सितंबर को रात 8.14 बजे खत्म होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here