इस्लामाबाद: पाकिस्तान में चुनाव के दौरान इमरान खान की पार्टी ने किस तरह की रणनीति अपनाई और पाकिस्तान में इमरान खान की पार्टी को सबसे ज्यादा सीटें कैसे मिली इसको लेकर इमरान की पार्टी पीटीआई का गोपनीय प्लान सामने आया है.

Via

खबरों के मुताबिक पाकिस्तान में इमरान खान को चुनाव जिताने में एक मोबाइल ऐप और 50 करोड़ लोगों के डेटाबेस ने सहायता की है. इमरान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ (पीटीआई) लोगों को पोलिंग बूथ तक लाने में भी कामयाब रही थी. इमरान की पार्टी ने अपने इस प्लान को काफी दिनों तक गोपनीय रखा ताकि दूसरी पार्टियां इसकी नकल न कर सके.

चुनाव के दौरान जिन्हें जगह ढूंढने में समस्या आ रही थी ऐसे लोगों को चुनाव के दिन पोलिंग बूथ तक मोबाइल ऐप के जरिए लाया गया था. बता दे कि नेशनल असेंबली में पीटीआई को 116, नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) को 64 और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) को 43 सीटें मिलीं थी. पाकिस्तान में सरकारी फोन सेवा से भी लोगों को मतदान बूथ की जानकारी दी जाती है, लेकिन 25 जुलाई को इस सिस्टम में खराबी आ गई थी. दूसरी ओर इमरान की विरोधी पार्टियों ने यह आरोप लगाया है कि उन्हें पाक आर्मी समर्थन दे रही है.

Via

आपको बता दे कि 2013 के चुनाव में इमरान की पार्टी लोकप्रियता के बावजूद जीत नहीं पाई थी. पुरानी गलतियों से सबक लेकर इस बार इमरान की पार्टी पीटीआई ने चुनाव मे जीत हासिल करने के लिए एक कॉन्स्टिट्यूएंसी मैनेजमेंट सिस्टम (सीएमएस)तैयार कराया था. पीटीआई नेता असद उमर के निजी सचिव और सीएमएस की एक यूनिट संभालने वाले आमिर मुगल ने बताया हैं कि “ऐप और डेटाबेस का जबर्दस्त असर हुआ. इमरान ने पूरे पाकिस्तान के चुनाव क्षेत्रों में डेटाबेस जुटाने के लिए टीमें तैनात कीं थी”

LEAVE A REPLY