Breaking News

MP में 60 लाख फर्जी वोटर! ‘सबूत’ लेकर EC से शिकायत करने पहुंची कांग्रेस

Posted on: 03 Jun 2018 10:08 by Mohit Devkar
MP में 60 लाख फर्जी वोटर! ‘सबूत’ लेकर EC से शिकायत करने पहुंची कांग्रेस

नई दिल्ली-  हाल ही चुनावों में ईवीएम और वीवीपैट का मुद्दा उठाने वाली कांग्रेस ने अब फर्जी वोटरों का आरोप लगाया है. कांग्रेस ने मध्यप्रदेश की वोटर लिस्ट में गड़बड़ियों का आरोप लगाते हुए 60 लाख फर्जी वोटर होने का दावा किया है.

Image result for MP में 60 लाख फर्जी वोटर! 'सबूत' लेकर EC से शिकायत करने पहुंची कांग्रेस

via

कांग्रेस ने इस संबंध में चुनाव आयोग से शिकायत भी की है. पार्टी ने बाकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ये दावा किया है और सबूत पेश किए हैं. रविवार को मध्यप्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और लोकसभा सांसद कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान कमलनाथ ने बताया कि हमने 100 विधानसभा क्षेत्रों में छानबीन कराई है, जहां 60 लाख फर्जी वोटर की सूची का पता चला है.

Image result for kamal nath congress

via

कमलनाथ ने दावा किया कि मध्यप्रदेश की आबादी 24% बढ़ी है, लेकिन मतदाताओं की संख्या में 40% इजाफा हुआ है. उन्होंने इस आंकड़े को हैरान करने वाला बताया है. साथ ही जान-बूझकर फर्जी वोटर लिस्ट बनाए जाने का आरोप लगाया है.

Image result for kamal nath complaint

via

कमलनाथ ने ये भी आरोप लगाया कि यूपी से जुड़े क्षेत्रों में कई ऐसे लोग हैं, जिनके नाम दोनों राज्यों की वोटर लिस्ट में है. इसके अलावा कई लोगों ने नाम कई अन्य सूचियों में है. कमलनाथ ने कहा कि हमने नई वोटर लिस्ट बनाने की मांग की है.

Related image

via

बीजेपी पर आरोप
कमलनाथ ने ये भी कहा कि पड़ोस के राज्यों में भी वोटर लिस्ट की जांच होनी चाहिए. कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी ने इस संबंध में कोई शिकायत नहीं की है, क्योंकि उन्होंने ही ये कराया है.
वहीं, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया कि उन्होंने 60 लाख फर्जी मतदाता होने के सबूत के साथ चुनाव आयोग से शिकायत की है. चुनाव आयोग ने कांग्रेस को लिस्ट में सुधार का भरोसा दिया है.

Image result for चुनाव आयोग से कांग्रेस की 5 मांग

via

चुनाव आयोग से कांग्रेस की 5 मांग
1. वोटर लिस्ट की फिर से जांच हो.
2. हर रिटर्निंग ऑफिसर से सर्टिफिकेट मांगा जाना चाहिए.
3. जिन्होंने फर्जी वोटरों को शामिल किया हो उन पर करवाई की जाए.
4. अगली सूची में भी अगर गड़बड़ी पाई जाती है तो अधिकारी पर कार्रवाई की जाए.
5. ऐसे अधिकारी को 6-10 साल तक किसी भी मतदान कार्य प्रक्रिया में शामिल नहीं किया जाए.इस मौके पर दिग्विजय सिंह,सुरेश पचौरी,विवेक तन्खा भी मौजूद थे.

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com