उज्जैन में महाकाल मंदिर विस्तारीकरण को लेकर फेस वन का काम लगभग पूरा हो चूका है देखने में जितना अद्भुत और मनोरम दृश्य हैअब आने वाले श्रधालुओ के लिए सूनने में भी उतना ही मनोरम होगा, महाकाल लोक में आने वाले श्रद्धालुओं को भगवान शिव की महिमा और उनकी कथाएं भी सुनने को मिलेंगी। भक्त इन्हें अपने मोबाइल पर ही सुन सकते हैं। ये कथाएं ऑडियो फॉर्मेट में होंगी,कथा व् गाथा सुनने के लिए श्रधालुओ को ‘उमा’ नाम का एप डाउनलोड करना होगा। इसके लिए म्यूरल और स्कल्प्चर पर लगे क्यूआर कोड को स्कैन करना होगा। 11 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आने से 2 दिन पहले तक इसकी तैयारियां पूरी कर ली जाएंगी। इसके लिए ऑडियो फॉर्मेट भी तैयार हो चुका है। महाकाल लोक में 500 डिवाइस लगाई जा रही हैं।

कैसे श्रद्धालु सुन सकेंगे शिव महिमा ?

महाकाल के नए आंगन महाकाल लोक में प्रवेश करने के बाद यदि किसी श्रद्धालु को मूर्तियों और म्यूरल पर अंकित शिव महिमा से जुड़ी जानकारी चाहिए तो वह मोबाइल से क्यूआर कोड को स्कैन कर सकते हैं। जिससे उन्हें जानकरी मिल जयेगी साथ ही अगर श्रद्धालु पूरी कहानी ऑडियो के माध्यम से जानना चाहते हैं तो महाकाल मंदिर के नंदी द्वार के सामने बने ऑफिस से ऑडियो डिवाइस लेना होगा, जिससे स्कैन करते से ही पूरी कथा जान सकते हैं।श्रद्धालु अपने मोबाइल से भी स्कैन कर ऑडियो सुन सकेंगे, लेकिन उन्हें मोबाइल में ‘उमा’ नामक एप डाउनलोड करना होगा। इससे स्कैन होते ही म्यूरल (भित्ति चित्र) या मूर्ति का कोड डालना पड़ेगा, जिसके बाद शिव महिमा की कहानी सुनाई देगी।

महाकाल लोक में प्रवेश से पहले नंदी द्वार के पास एक कार्यालय बनाया जा रहा है, यहां से श्रद्धालुओं को शुल्क देकर ऑडियो डिवाइस दिया जायेगा, इसके बाद वो जिस भी मूर्ति या म्यूरल के बारे में जानना चाहते हैं, उसके नीचे लगे क्यूआर कोड को स्कैन करे स्कैन करते ही उस मूर्ति के बारे में जानकारी मिल जाएगी।

4 अलग अलग भाषाओ में सुन सकेंगे शिव महिमा

महाकाल लोक में 52 म्यूरल, 80 स्कल्प्चर और 200 मूर्तियां हैं, जो भगवान शिव की कहानी बताती हैं। स्कैन करते ही भाषा सिलेक्शन का भी ऑप्शन मिलेगा। फिलहाल, शुरुआत में हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती और मराठी में जानकारी मिलेगी। भविष्य में अन्य भाषा के ऑप्शन भी मिलने लगेंगे।