आकाशीय बिजली के एक झटके में चली गई 33 लोगोें की जान

0
75

नई दिल्ली। बारिश की वजह से एक ओर असम, बिहार, मेघालय और पंजाब में हालात बिगड़े हुए हैं। वहीं 21 जुलाई यूपी के लिए काल बनकर आई। शाम को हुई तेज बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से अलग-अलग स्थानों पर 33 लोगों की मौत हो गई है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कानपुर शहर के घाटमपुर क्षेत्र और फतेहपुर में सात-सात लोगों की जान चली गई। बुंदेलखंड के हमीरपुर में बिजली गिरने से खेतों में काम कर रहे तीन किसानों की जान चली गई, जबकि 16 मवेशी भी चपेट में आकर मर गए। जालौन जिले में चार लोगों की मौत हो गई। वहीं फतेहपुर में सात लोग जान गंवा चुके हैं। इसके अलावा अलग-अलग स्थानों पर आकाशीय बिजली की चपेट में आने से लोगों की मौत हो गई।

बिहार, असम के बाद अब बाढ़ से बिगड़े पंजाब में हालात

असम और बिहार में भारी बारिश के चलते लगातार बाढ़ का कहर जारी है। बाढ़ से बिहार और असम में अब तक करीब 166 लोगों की मौत हो गई है। वहीं पंजाब के भी सात जिलों में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक, बाढ़ का पानी राज्य में उतरने लगा है। वहीं बाढ़ से प्रभावित जिलों की संख्या घटकर अब 24 हो गई है, किंतु शनिवार को भी बाढ़ की वजह से करीब 12 लोगों की मौत हो गई है।

असम में बाढ़ के कारण अब कुल 59 लोगों की मौत हो चुकी है। हरियाणा और पंजाब के ज्यादातर इलाकों में शनिवार को हुई भारी बारिश से तापमान सामान्य से तीन डिग्री तक नीचे गिर गया है। करनाल में 58.2 मिलीमीटर और अमृतसर में 13 मिलीमीटर बारिश हुई। चंडीगढ़ में 2 मिलीमीटर बारिश आंकी गई। पंजाब की घग्गर नदी में उफान के कारण सात जिलों में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं और कपास व धान की फसल को खतरा पैदा हो गया है।

बाढ़ के कारण बिहार में करीब पांच लोगों की मौत हो गई है. राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक, अब तक कुल 97 लोगों की बाढ़ के कारण मौत हो चुकी है. वहीं शनिवार को मधुबनी जेले में करीब चार लोगों की मौत हो गई है, जबकि एक अन्य दरभंगा में बाढ़ का शिकार हो गया। मधुबनी में अब तक कुल 18, दरभंगा में 10, सीतामढ़ी में 27 लोग बाढ़ के शिकार हुए हैं. बता दें कि बिहार के कुल 12 जिले बाढ़ के कारण प्रभावित हुए हैं. इस बाढ़ की वजह नेपाल में हुई भारी बारिश को माना जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here