Breaking News

1993 मुंम्बई सीरियल बम ब्लास्ट – आरोपी अब्दुल गनी तुर्क की हुई मौत, नागपुर सेंट्रल जेल में काट रहा था सजा

Posted on: 25 Apr 2019 18:53 by bharat prajapat
1993 मुंम्बई सीरियल बम ब्लास्ट – आरोपी अब्दुल गनी तुर्क की हुई मौत, नागपुर सेंट्रल जेल में काट रहा था सजा

मुंम्बई में 1993 में हुए बम धमाकों के आरोपी अब्दुल गनी तुर्क की मौत हो गई है। अब्दुल नागपुर सेंट्रल जेल में सजा काट रहा था और वह काफी समय से बीमार चल रहा था जिसके चलते उसकी नागपुर के जीएमसी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जहाँ उसकी मौत हो गई। बता दे कि गनी पर सेंचुरी बाजार में आरडीएक्स लगाने और 113 लोगों को मारने का आरोप था। वही इस मामले में अन्य आरोपी याकूब मेमन को पहले ही फांसी दी जा चुकी है लेकिन मुख्य आरोपी दाऊद इब्राहिम फिलहाल पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

गौरतलब है कि मुम्बई में 12 मार्च 1993 को एक के बाद एक कई स्थानों पर बम धमाके हुए थे। पहला धमाका मुंबई स्टॉक एक्सचेंज की इमारत में हुआ था। जिसके बाद एक के बाद एक हुए बम धमाको की गूँज ने पूरे मुम्बई को अपनी जद में ले लिया था। इस बम धमाकों से मायानगरी सहित पूरा देश दहल गया था।

इस समय हुए धमाके – 

पहला धमाका –    मुंबई स्टॉक एक्सचेंज – दोपहर 1ः30 बजे,
दूसरा धमाका –    नरसी नाथ स्ट्रीट –        दोपहर 2ः15 बजे,
तीसरा धमाका –   शिव सेना भवन –         दोपहर 2ः30 बजे,
चैथा धमाका    –    एयर इंडिया बिल्डिंग –  दोपहर 2ः33 बजे,
पांचवा धमाका –   सेंचुरी बाजार –             दोपहर 2ः45 बजे,
छठा धमाका   –    माहिम –                      दोपहर 2ः45 बजे,
सातवां धमाका –    झावेरी बाजार –           दोपहर 3ः05 बजे,
आठवां धमाका –   सी रॉक होटल –          दोपहर 3ः10 बजे,
नौवां धमाका    –    प्लाजा सिनेमा –          दोपहर 3ः13 बजे,
दसवां धमाका  –    जुहू सेंटूर होटल –       दोपहर 3ः20 बजे,
ग्यारवां धमाका –   सहार हवाई अड्डा –     दोपहर 3ः30 बजे,
बारहवां धमाका –  एयरपोर्ट सेंटूर होटल – दोपहर 3ः40 बजे,

मुम्बई में हुए इन बम धमाकों की जाँच 19 नवंबर 1993 को सीबीआई को सौंप दिया गया था और 19 अप्रैल 1995 को मुंबई की टाडा अदालत में इस मामले में सुनवाई की गई थी। जिसके बाद अगले दो महीनों तक अरोप तय किए गए थे और अक्टूबर 2000 में सभी अभियोग पक्ष के 686 गवाहों के बयान समाप्त हाने के बाद अक्टूबर 2001 में अभियोग पक्ष ने अपनी दलील खत्म की थी। सितंबर 2003 में मामले की सुनवाई समाप्त हाने के बाद कोेर्ट ने सितंबर 2006 में अपने निर्णय देने शुरू किए थे।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com