Breaking News

बंगाल में बवाल: अभी तक 150 डॉक्टर्स ने दिया इस्तीफा

Posted on: 14 Jun 2019 10:24 by Surbhi Bhawsar
बंगाल में बवाल: अभी तक 150 डॉक्टर्स ने दिया इस्तीफा

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और डॉक्टर्स के बीच की लड़ाई बढ़ती जा रही है। जूनियर डॉक्टर के साथ हुई मारपीट के बाद बंगाल के जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर चले गए थे। अब यह लड़ाई दिल्ली तक पहुंच गई है। दिल्ली में कई निजी और सरकारी डॉक्टर पश्चिम बंगाल के डॉक्टर्स के समर्थन में हड़ताल कर रहे है। दिल्‍ली के सफदरजंग अस्‍पताल के भी रेजीडेंट डॉक्‍टर आज हड़ताल पर रहेंगे।

LIVE UPDATES:

हड़ताली डॉक्टर्स के साथ बैठक कर रही है ममता बनर्जी.

बंगाल में 150 से ज्यादा डॉक्टर्स ने दिया इस्तीफा.

कलकत्ता हाईकोर्ट ने बड़ा आदेश दिया है। हाईकोर्ट ने कहा कि पश्चिम बंगाल सरकार डॉक्टरों से बातचीत करे और मामले को सुलझाए। इतना ही नहीं हाईकोर्ट ने ममता सरकार से पूछा है कि उन्होंने डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए क्या कदम उठाए हैं।

डॉ हर्षवर्धन सिंह ने डॉक्टर्स को आश्वासन देते हुए कहा कि इस मामले में हम ममता बनर्जी से बात करेंगे। उन्होंने डॉक्टर्स से अपील  की है कि वह प्रदर्शन करें लेकिन मरीजों का इलाज करें।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन सिंह से मिला डॉक्टरों का प्रतिनिधिमंडल.

होगी प्रेस कांफ्रेंस

ममता बनर्जी और डॉक्टर्स के बीच छिड़े विवाद की आंच पूरे देश में पहुंच गई है। बंगाल के डॉक्टर्स के समर्थन में दिल्ली, यूपी, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र सहित देश के कई हिस्सों के डॉक्टर्स उतर आए है। दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ने आज बंद बुलाया है। DMA की ओर से आज दोपहर दिल्ली के राजघाट के पास प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की जाएगी।

दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन द्वारा बुलाए गए बंद का असर AIIMS जैसे बड़े अस्पतालों में देखने को मिले। इसके अलावा मुंबई में भी डॉक्टरों ने काम करने से इनकार कर दिया है. मुंबई के डॉक्टरों का कहना है कि वह साइलेंट प्रोटेस्ट करेंगे।

हैदराबाद के डॉक्टर्स भी इस विरोध प्रदर्शन में उतर आए है।

मध्य प्रदेश में भी घटना का विरोध करते हुए डॉक्टर अस्‍पतालों में इलाज करेंगे। इसके अलावा देश के अधिकांश हिस्‍सों में डॉक्‍टर आज हड़ताल कर रहे हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने किया अनुरोध

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन सिंह ने गुरुवार को मरीजों और उनके तीमारदारों से संयम बरतने का अनुरोध किया और घटना की निंदा की। उन्होंने कहा कि कि वह सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के सामने डॉक्टरों की सुरक्षा का मुद्दा उठाऐंगे।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com