149 साल बाद चंद्रग्रहण का दुर्लभ संयोग, आज भूलकर भी ना करें ये काम

0
340
Chandra Grahan 1

नई दिल्ली। देश में 16 जुलाई की देर रात और 17 जुलाई तड़के तीन घंटे तक आंशिक चंद्रग्रहण होगा। यह चंद्रग्रहण 16 जुलाई की रात एक बजकर 31 मिनट पर शुरू होगा। यह आंशिक ग्रहण सबसे स्पष्ट रूप से सुबह तीन बजे नजर आएगा जब चंद्रमा का ज्यादातर हिस्सा ढक जाएगा। चंद्रमा पर यह आंशिक ग्रहण बुधवार सुबह 4.29 बजे तक रहेगा।

गुरु पूर्णिमा पर पढ़ने वाला यह साल का दूसरा और आखिरी चंद्रग्रहण होगा। माना जा रहा हैं कि गुरु पूर्णिमा पर चंद्रगहण का योग 149 सालों में बन रहा हैं। जो कि बहुत ही दुर्लभ संयोग हैं। इस चंद्र ग्रहण में काम ऐसे भी हैं जिसे करने से आपके जीवन में और भी परेशानियां आ सकती हैं। तो आइए जानते हैं कि ऐसे क्या काम हैं जिन्हें चंद्रग्रहण के दौरान नहीं करना चाहिए।

वैज्ञानिक नजरिए से देखा जाए तो भी यह ग्रहण पूर्णिमा पर आने कारण ज्यादा ही खास माना जा रहा है। वैज्ञानिकों का मानना है कि अमावस्या और पूर्णिमा पर आने वाले ग्रहण से बहुत ही सुंदर घटनाओं को देखने का मौका मिलता है साथ ही ऐसे में सबसे ज्यादा सुंदर नजारा देखने को मिलता है।

इन कामों को ग्रहण के दौरान भूल कर भी ना करें

1- मान्यता हैं कि ग्रहण के दौरान अन्न और जल का ग्रहण नहीं करना चाहिए।

2- आपने अक्सर सुना होगा कि चंद्र ग्रहण के दौरान स्नान नहीं करना चाहिए। ग्रहण खत्म होने के बाद या इससे पहले स्नान कर लें। मान्यता हैं कि ग्रहण के दौरान सूतक रहता हैं जिसे हिन्दू मान्यताओं के अनुसार सही नहीं माना जाता हैं।

3- ग्रहण के बूरे प्रभाव को कम करने के लिए इस दौरान मंत्रो का जाप किया जा सकता है।

4- ग्रहण के दौरान भगवान की पूजा और आरती भी नहीं करनी चाहिए।

5- ग्रहण के दौरान घर में रखे जल में तुलसी के पत्तों को डालना शुभ माना जाता हैं।

6- कोशिश करें कि ग्रहण के दौरान घर से बाहर ना ही निकलें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here