Breaking News

दसवें राष्ट्रीय बाल साहित्य पुरस्कार में नाम कमाया विकास दवे और डॉक्टर पद्मासिंह ने | 10th National Children’s Literary Awarded to Vikas Dave and Doctor Padma Singh

Posted on: 16 May 2019 10:39 by Surbhi Bhawsar
दसवें राष्ट्रीय बाल साहित्य पुरस्कार में नाम कमाया विकास दवे और डॉक्टर पद्मासिंह ने | 10th National Children’s Literary Awarded to Vikas Dave and Doctor Padma Singh

सलिला संस्था, सलूंबर-राजस्थान

सलिला संस्था, सलूंबर- राजस्थान, द्वारा प्रतिवर्ष दिए जाने वाले बाल साहित्य पुरस्कारों की घोषणा सलिला संस्था की अध्यक्ष और कार्यक्रम संयोजिका विमला भंडारी द्वारा की गई है।

स्वतंत्रता सैनानी औंकारलाल शास्त्री पुरस्कार -2019 के प्रथम भाग के प्रथम चरण और द्वितीय चरण के तहत बाल साहित्य पुरस्कारों की घोषणा हुई है।

प्रथम भाग के प्रथम चरण में बाल साहित्य की विधा “पत्र लेखन” प्रतियोगिता प्रेस विज्ञप्ति निकालकर राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित की गई। जिसमें 94 साहित्यकारों के पत्र प्राप्त हुए। इन पत्रों के मूल्यांकन के बाद 15 मेरिट में चयनित हुए पत्रों पर पुरस्कारों की घोषणा की गई है जो इस प्रकार है-

प्रथम पुरस्कार विजेता – नीति श्रीवास्तव, भोपाल (मध्य प्रदेश)
डॉ. अनुश्री राठौड, उदयपुर (राज.)
को 3000 रुपए की नकद राशि का यह पुरस्कार दोनों विजेताओं को संयुक्त रूप से भेंट किया जायेगा।

द्वितीय पुरस्कार विजेता – डॉ देशबंधु शाहजहांपुरी, शाहजहांपुर (उत्तर प्रदेश) को ₹2000 की नकद राशि भेंट की जाएगी।

तृतीय पुरस्कार विजेता – भगवती प्रसाद गौतम, कोटा (राज.)
रोचिका शर्मा, चेन्नई
सीमा जैन, ग्वालियर (मध्य प्रदेश)
को ₹3000 की नकद राशि संयुक्त रूप से भेंट की जाएगी।

श्रेष्ठपत्र विजेता – श्याम मनोहर व्यास, उदयपुर (राज.)
प्रभा पारीक, भरूच (गुजरात)
देवदत्त शर्मा, अजमेर (राज.)
डॉ शील कौशिक, सिरसा (हरियाणा)
विमला नागला, केकड़ी (राज.)
डॉ सोनी स्वरूप, वाराणसी (उत्तर प्रदेश)
हरीश कुमार ‘अमित’, गुरुग्राम (हरियाणा)
डॉ. अरविंद कुमार, भोपाल (मध्य प्रदेश)
इंदु गुप्ता, फरीदाबाद (उत्तर प्रदेश)
को प्रत्येक को ₹500 की नकद राशि भेंट की जाएगी।

स्वतंत्रता सेनानी औंकरलाल शास्त्री स्मृति पुरस्कार 2019 के प्रथम भाग के दूसरे चरण में प्रकाशित पुस्तकों पर पुरस्कार की घोषणा की जा रही है। प्रत्येक पुस्तक के रचनाकार को सम्मान स्वरूप ₹2000 की नकद राशि भेंट की जाएगी।

इस बार चुनी गई पुस्तकें और उनके रचनाकारों का विवरण इस प्रकार है-

  1. बाल कहानी विधा के अंतर्गत “सांची की गुड़िया”, शीला पांडे लखनऊ (उत्तर प्रदेश)
  2. पत्र लेखन विधा के अंतर्गत “पाती बिटिया के नाम”, विकास दवे इंदौर (मध्य प्रदेश)
  3. किशोर बाल साहित्य की निबंध विधा के अंतर्गत “आत्मज्ञान में जगत दर्शन” पद्मा सिंह , इंदौर (मध्य प्रदेश)
  4. बाल पहेली विधा के अंतर्गत “आओ करें बुद्धि का विकास” प्रकाश तातेड, उदयपुर (राज.) का नाम चयनित किया गया है।

प्रत्येक साहित्यकार को पुरस्कार की नकद राशि भेंट करने के साथ अभिनंदन पत्र अर्पित कर, अंग वस्त्र ओढ़ाकर ,दसवें राष्ट्रीय बाल साहित्यकार सम्मेलन, 22-23 सितम्बर 2019 को भव्य समारोह में उपस्थित होने पर सम्मानित किया जाएगा। इस पुरस्कार की कुल राशि ₹20,500 है।

आने वाले समय में इस पुरस्कार का दूसरा भाग (बच्चों के लिए ₹4000 नकद राशि) महाविद्यालय और विद्यालय के बालकों के लिए सुरक्षित है। जिसकी परीक्षा परिणाम आने पर घोषणा की जाएगी।

इन पुरस्कारों की घोषणा के साथ ही सलिला संस्था के पुरस्कार संयोजक संजय शास्त्री (कोलकाता), दिनेश मेवाड़ी (मुंबई), नंदलाल परसारामणि, प्रोफेसर रघुनाथसिंह मंत्री, संरक्षक, सलिला संस्था, गोविन्द शर्मा, परामर्शदाता एवं चंद्रप्रकाश मंत्री, जगदीश भंडारी, मुकेश राव, मधु माहेश्वरी, शंकरलाल पांडे, शांतिलाल शर्मा, मनीला पोरवाल, दिनेश कचोरिया सहित सलिला संस्था के पदाधिकारियों ने सभी विजेताओं को अपना शुभकामना संदेश प्रेषित किया है।

डाॅ विमला भंडारी
संयोजक और अध्यक्ष
सलिला संस्था,

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com