Breaking News

स्वराज का शस्त्र था सत्याग्रह, श्रेष्ठ भारत का शस्त्र है स्वच्छता: मोदी

Posted on: 02 Oct 2017 06:53 by Ghamasan India
स्वराज का शस्त्र था सत्याग्रह, श्रेष्ठ भारत का शस्त्र है स्वच्छता:  मोदी

नई दिल्ली। आज गाँधी जयंती के मौके पर प्रधान्मन्य्री नरेंद्र मोदी ने महात्मा गाँधी को श्रद्धांजलि दी। साथ ही आज स्वच्छता मिशन के 3 पूरे हो गये है। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली के विज्ञान भवन में स्वच्छता पुरस्कार का वितरण किया। प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि जब मैंने इस अभियान की शुरुआत की थी तो मुझे बड़ी आलोचना झेलनी पड़ी।

उन्होंने कहा तीन साल पहले मैं अमेरिका में था, 1 अक्टूबर रात देर से आया और 2 अक्टूबर को झाड़ू लगाना शुरू कर दिया। उस समय मेरी काफी आलोचना की थी, 2 अक्टूबर छुट्टी का दिन होता है लेकिन छुट्टी खराब की थी। मेरा स्वभाव है कि मैं सबकुछ चुपचाप झेलता रहता हूं, धीरे-धीरे अपनी कैपेसिटी बढ़ा रहा हूं।

हम तीन साल तक लगातार लगे रहे। हालांकि देश के कई राज्य अभी भी खुले में शौच से मुक्त नहीं हो पाए हैं। इस काम में चुनौतियां हैं लेकिन इससे भागा नहीं जा सकत। पीएम बोले कि पांच साल बाद जो गंदगी करेगा उसकी खबर बनेगी। अब ये मिशन किसी सरकार का नहीं है बल्कि पूरे देश का है। हमें स्वराज्य मिला, श्रेष्ठ भारत का मंत्र स्वच्छता है।

पीएम ने कहा कि यदि एक हजार महात्‍मा गांधी आ जाएं, 1 लाख नरेंद्र मोदी आ जाएं राज्‍यों के मुख्‍यमंत्री मिल जाएं तो भी स्वच्छता का सपना पूरा नहीं हो सकता है। जब तक जनता साथ नहीं जुड़ेगी तब तक यह पूरा होगा। उन्होंने कहा कि राजनीति में आने से पहले संगठन में रहकर भी सफाई के लिए काम किया, पैसा इक्ट्ठा कर गुजरात में एक गांव को गोद लिया था. और उसमें स्वच्छता की व्यवस्था करवाई।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com