सुरों की मलिका के जन्मदिन पर Google ने डूडल बना कर दी श्रद्धांजलि

0
14

नई दिल्ली :‘मल्लिका-ए-गजल’ कहलाने वाली बेगम अख्तर का आज 103वां जन्‍मदिन है.कई गजल प्रेमी उन्‍हें इस मौके पर याद कर रहे हैं तो वहीं गूगल ने भी उनके जन्‍मदिन पर उन्‍हें डूडल बनाकर भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी है. बेगम अख्तर का जन्म 7 अक्टूबर 1914 को उत्तर प्रदेश के फैजाबाद जिले में हुआ था. दादरा, ठुमरी और गजल में महारत हासिल करने वाली बेगम अख्तर ‘संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार’ के अलावा ‘पद्म श्री’ से भी सम्मानित थीं उन्हें मरणोपरांत ‘पद्म भूषण’ भी दिया गया था.

छोटी सी उम्र में बेगम अख्तर के सामने अभिनय के दरवाजे भी खुल गए, कई फिल्मों के गीतों को उन्होंने अपनी आवाज दी. बेगम कई नाटकों और फिल्मों में अभिनय भी किया. वर्ष 1945 में उन्होंने इश्तिआक अहमद अब्बासी से शादी की थी. जिसके बाद उन्होंने साल 1920 में कोलकाता के एक थियेटर से एक्टिंग करियर की शुरुआत की उन्होंने वर्ष 1945 में इश्तिआक अहमद अब्बासी से शादी की थी .

बेगम अख्तर ने हिंदी फिल्मों में भी अपनी गजल से सबका दिल जीता गायिका  60 वर्ष की उम्र में 30 अक्तूबर 1974 को इस दुनिया से अलबिदा हो गए .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here