शिवराज सिंह के सीएम रहते चढ़ा प्रदेश पर 1 लाख करोड़ का कर्ज

0
15

नई दिल्ली : सीएम शिवराज सिंह के कार्यकाल में मध्यप्रदेश अब तक १ लाख करोड़ के कर्ज में दब चूका है, जबकि दिवाली से पहले सरकार 9000 करोड़ का कर्ज उठा चुकी है, प्रदेश में जब 2003 में दिग्विजय सिंह की सरकार थी तब मप्र सरकार पर 3300 करोड़ का कर्ज था, जबकि शिवराज सिंह के तीसरी बार सीएम बनने पर 2013 में  कर्ज बढ़कर 91000 करोड़ पहुंच गया है.

 जबकि सरकार के मुताबिक़ जीएसटी की वसूली ना होने के करान फंड की परेशानी आयी है जो की जीएसटी के वसूल होने के बाद पूरी हो सकेगी, हालांकि सरकार को टैक्स रिकवरी को लेकर सरकार को काफी उम्मीदें थीं, लेकिन 1 जुलाई से जीएसटी लागू होने के बाद सरकार टैक्स की वसूली नहीं कर पायी है, जिसके कारण सरकार को कर्ज लेना पड़ रहा है.

हालांकि प्रदेश को बीते दो महीनो में सिर्फ 5000 करोड़ टैक्स कलेक्शन हुआ है, जबकि मार्च में शुरू हुए नए वित्तीय वर्ष के दौरान बीजेपी की अगुवाई वाली सरकार 1.11 लाख करोड़ रुपये के कर्ज बोझ के तहत थी। 2014 में, यह आंकड़ा 77,413 करोड़ रुपये के आसपास था.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here