शाह के बेटे को रतलाम में जमीन देने के मामले में जबाव दे शिवराज : कांग्रेस

0
11

नई दिल्ली : नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कहा है कि वे अमित शाह के बेटे जय शाह द्वारा रतलाम जिले में योग्य न होने पर भी पवन ऊर्जा चक्की लगाने पर 15 करोड़ के किए गए निवेश और उनको दी गई जमीन के बारे में खुलासा करें। श्री सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को लिखे पत्र में कहा है कि वे प्रदेश और जनहित में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बेटे की स्टाक कंपनी द्वारा रतलाम में पवन ऊर्जा में 15 करोड़ का निवेश करने के बारे में पूरी जानकारी दें। उन्होंने 2.1 मेगावाट की पवन चक्की लगाई है, जिसका उल्लेख “द वायर” खुलासे में हुआ है.

हालांकि श्री सिंह ने कहा कि जिस कंपनी की पवन ऊर्जा में विशेषज्ञता ही नहीं है उसे रतलाम की बेशकीमती जमीन कैसे दे दी। क्या अमित शाह के डर से उनके बेटे को काम दिया? इस पूरे प्रकरण में षडयंत्र की बू आ रही है। एक विशेष किस्म का भ्रष्टाचार प्रदेश में पनप रहा है। एक निजी कंपनी का बचाव करने केंद्रीय मंत्री सामने आ रहे हैं। इससे जाहिर है कि हजारों युवा उद्यमियों के भविष्य बर्बाद कर अपने अपने बच्चों, भाई-भतीजों की कंपनियों को करोड़ो के काम दे रहे हैं। श्री सिंह ने पत्र में लिखा कि मुख्यमंत्री एक तरफ प्रदेश के युवाओं को उद्योग लगाने और उन्हें टाटा, अंबानी बनने का सपना दिखाते हैं, वहीं दूसरी ओर प्रदेश के भाजपा नेताओं और अपने सगे संबंधियों को करोड़पति बनाने के लिए नियम-कायदों को ताक पर रख देते हैं।

जबकि अमित शाह के बेटे, भाजपा से जुड़े नेता और बाबाओं को ही यहां निवेश करने की छूट क्यों हैं? श्री सिंह ने पूछा कि प्रदेश का युवा उद्यमी रतलाम में निवेश क्यों नहीं कर सकता। अमित शाह का बेटा ही क्यों? इसका स्पष्ट जवाब शिवराज सिंह को देना चाहिए क्योंकि अमित शाह के बेटे की कंपनी का टर्न ओवर अप्रत्याशित रूप से बढ़ने पर सवाल खड़े हो गए हैं। उन्होंने आश्चर्य व्यक्त किया कि जय शाह की ओर से देश के रेल मंत्री सफाई दे रहे हैं। जिन्होंने मुंबई ओवर ब्रिज की घटना पर बोलना जरूरी नहीं समझा, जिसमें 22 लोग मर गये थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here