वास्तु दोष : ‘किचन’ से दूर करे वास्तु दोष कि परेशानी

0
10

नई-दिल्ली। वास्तुशास्त्र पर लोग बहुत अधिक भरोसा रखते हैं। चाहे घर बनवाना हो या घर की मरम्मत करवाना हो, या फिर अन्य कोई भी काम सभी जगह वास्तुशास्त्र का विशेष महत्व माना गया है। आज हम आपको बता रहे हैं कि वास्तु के मुताबिक किचेन में कौन सा सामान कहां रखें।

  • किचन में चूल्हे का जगह ऐसा होना चाहिए जिससे खाना बनाने वाले का चेहरा पूरब दिशा की ओर हो। साथ ही किचेन का सिंक उत्तर और पूरब की दिशा से बिलकुल अलग होना चाहिए।
  • वास्तु के अनुसार किचन में ओवन इत्यादि बिजली उपकरण अग्नि कोण (दक्षिण-पूरब) में होने चाहिए।
  • वास्तु के अनुसार किचेन में फ्रीज दक्षिण और पश्चिम के दिशा में रखना अच्छा माना माना गया है।
  • गैस चूल्हे के ऊपर सामान रखने के लिए अलमारियां नहीं होनी चाहिए। क्योंकि गैस के ठीक ऊपर आलमारियों का होना वास्तु दोष माना गया है।
  • किचन की दीवार से बिलकुल सटाकर या इसके ऊपर या फिर नीचे सटाकर बाथरूम नहीं होना चाहिए। ऐसा होना भी वास्तु दोष के अंतर्गत आता है।
  • किचन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा प्लेटफार्म हमेशा पूर्व में होना चाहिए और ईशान कोण (पूरब-उत्तर) में सिंक व अग्नि कोण चूल्हा लगाना चाहिए।
  • किचन के दक्षिण में कभी भी कोई दरवाजा या खिड़की नहीं होना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here