राजनाथ ने आरएसएस समर्थित कार्यक्रम में लगाया गलत नारा

0
8

नयी दिल्ली :25 अक्टूबर को एक कार्यक्रम में गलती कर बैठे। दरअसल आरएसएस से जुड़े संगठन राष्ट्रीय सिख संगत ने सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह की 350वीं जयंती पर समारोह का आयोजन किया। इसमें राजनाथ ने कहा कि भारत की संस्कृति की रक्षा करने वाले महापुरषों में गुरु गोविंद सिंह सबसे अग्रणी रहे।

उन्होंने खालसा पंथ की स्थापना की थी जो आज भी भारतीय संस्कृति का रक्षा कवच है। हालांकि इस दौरान उन्होंने सिखों के धार्मिक नारे को गलत ढंग से बोला।

दरअसल राजनाथ ने पहले ‘वाहे गुरु जी का खालसा’ की जगह ‘वाहे गुरु जी की फतेह’ कहा। बाद में गलती का अहसास होने पर उन्होंने कहा, ‘अरे इधर-उधर चलेगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here