Breaking News

मां की मजबूरी से मिली प्रेरणा, बना डाली स्मार्ट टॉयलेट चेयर

Posted on: 01 Sep 2017 13:30 by Ghamasan India
मां की मजबूरी से मिली प्रेरणा, बना डाली स्मार्ट टॉयलेट चेयर

भोपाल। मध्य प्रदेश के ग्वालियर के एक इंजीनियर ने ऐसी स्मार्ट चेयर बनाई है जिसमें मानव मल बाहर नही आता है। यह दुनिया की पहली स्मार्ट चेयर है। इसका नाम वर्ल्ड क्लास बॉयो टायलेट चेयर है और इसे विशाखापट्टम में 9 सिंतबर से होने वाले इंटरनेशनल फेयर के लिए चुना गया है। साथ ही उसे स्वच्छ भारत मिशन में भी शामिल कर रहे हैं।

इस चेयर की तरीफ केंद्र सरकार के नुमाइंदे भी कर रहे हैं। ग्वालियर के जयसिंह नरवरिया पेशे से सरकारी अधिकारी हैं। जयसिंह पथरीले क्षेत्र में बॉयो टॉयलेट बनाने की उपलब्धि हासिल कर चुके हैं। लेकिन जब मां की तबियत खराब हुई और वे अशक्त हुईं तो सबसे ज्यादा कष्ट शौच को लेकर होने लगा। जिसके बाद उन्होनें एक बॉयोटायलेट चेयर बना दी।

इस चेयर की ख़ास बात ये है कि इसमें न मल की बदबू और न ही मल फेंकने की समस्या है। इनबिल्ट टैंक में मौजूद बैक्टीरिया मल को डाइजेस्ट कर देता है और सिर्फ पानी ही बाहर आता है।.इस पानी का इस्तेमाल पौधों में खाद के लिए किया जा सकता है।

जयसिंह के द्वारा बनाई गयी ये चेयर देश के अलग-अलग हिस्सों में हुई प्रतियोगिता में प्रथम आ चुकी है। इस स्मार्ट चेयर को देखने के लिए दुनियाभर के लोग विशाखापट्टम आएँगे अब जयसिंह की स्मार्ट चेयर दुनिया की सबसे बेहतरीन चेयर का खिताब जीतने की ओर कदम बढ़ा रही है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com