Breaking News

महाकाल के शिवलिंग पर भांग चढ़ाने के विरोध को पुजारियों ने किया नजरअंदाज

Posted on: 09 Sep 2017 12:46 by Ghamasan India
महाकाल के शिवलिंग पर भांग चढ़ाने के विरोध को पुजारियों ने किया नजरअंदाज

नई दिल्ली : उज्जैन के महाकाल मंदिर में हाल ही में हुए पुरातात्विक विभाग के सर्वे में महाकाल बाबा के शिवलिंग क्षरण से जुडी जानकारी के अनुसार विद्वत परिषद ने यह कहते हुए सबको चौंका दिया है की महाकाल मंदिर में भांग के श्रृंगार से भी लिंग का क्षरण हो रहा है.

जबकि सुप्रीम कोर्ट में महाकाल मंदिर शिवलिंग के क्षरण को लेकर लगी याचिका के बीच महाकाल मंदिर के शिवलिंग क्षरण पर विद्वत परिषद के मत को पुजारियों ने मानने से इनकार कर दिया है.

परिषद ने मत दिया है की भांग और इत्र के उपयोग से शिव लिंग का क्षरण हो रहा है, वर्तमान में प्रतिदिन भांग का नैवेद्य तथा भांग से श्रृंगार किया जा रहा है, जो कि उचित नहीं है. बाजार में मिलने वाली भांग में अनेक अम्लीय पदार्थ मिलाए जाते हैं. जिससे शिवलिंग का क्षरण होता है.

ज्योतिर्लिंग के क्षरण को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर मंदिर प्रबंधन ने उपायों पर चर्चा के लिए शुक्रवार को बैठक आयोजित की थी. बैठक में अभिमत दिया गया की भांग से श्रृंगार का कोई शास्त्रीय अथवा पारंपरिक प्रमाण नहीं मिलता है.  50 वर्ष पूर्व भगवान महाकाल को केवल रक्षाबंधन पर ही भांग का भोग लगाया जाता था.

जबकि पंडे-पुजारियों और ज्योतिषाचार्य ने कहा कि भांग एक प्राकृतिक औषधि है. इसमें किसी प्रकार के केमिकल नहीं होते हैं. श्रृंगार में काली मिर्च का उपयोग भी नहीं करते हैं. साथ ही उन्होंने कहा की आंकड़े, धतूरे, भांग जितनी भी विष संबंधी चीजें हैं, वे शिव को प्रिय हैं और इन्हें चढ़ाने से भगवान प्रसन्न होते हैं.

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com