बिहार सहित पुरे प्रदेश में क्यों मनाया जाता है छठ आइये जानते है कारण

0
7

नई दिल्ली। नहाय खाय के साथ ही कार्तिक माह की छठ पूजा शुरू हो जाता है। वैसे तो ये व्रत वर्ष में दो बार होता है। इनमें कार्तिक मास के छठ ये त्यौहार मुख्य रूप से बिहार और उतर प्रदेश में मनाया जाता है आइये हम जानते है इसका पीछे छुपा राज

बिहार और पूर्वांचल में सूर्य षष्ठी पर्व को सभी पर्वों में विशेष महत्व दिया गया है। इसका मुख्य कारण यह है कि बिहार और पूर्वांचल क्षेत्र प्राचीन काल से कृषि प्रधान क्षेत्र रहा है। सूर्य को कृषि का आधार माना जाता है, क्योंकि सूर्य ही मौसम में परिवर्तन लाता है।

सूर्य के कारण ही बादल जल बरसाने में सक्षम होता है। सूर्य अनाज को पकाता है। इसलिए सूर्य का आभार व्यक्त करने के लिए प्राचीन काल से इस क्षेत्र के लोग सूर्य पूजा करते आ रहे हैं। वेदों में भी सूर्य को सबसे  प्रमुख देवता के रूप में मान्यता प्राप्त है, लेकिन सूर्य पूजा से सूर्य षष्ठी पर्व की शुरुआत कैसे हुई इस विषय में सूर्य पुत्र कर्ण से जुड़ी मान्यताएं हैं। सूर्य पुत्र कर्ण अंग देश का राजा था। अंग देश वर्तमान में बिहार का भागलपुर जिला है। कर्ण के आराध्य देव भगवान सूर्य थे।

नियमित रूप से गंगा नदी में कमर तक प्रवेश करके कर्ण भगवान सूर्य को अर्घ्य दिया करते थें। कर्ण ने अपने राज्य में सर्वप्रथम सूर्य षष्ठी पर्व की शुरुआत की। धीरे-धीरे इसका विस्तार होता गया और सूर्य षष्ठी पर्व पूरे बिहार, झारखंड, पूर्वी उत्तरप्रदेश में श्रद्धापूर्वक मनाया जाने लगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here